होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

कुएं से निकली युवक की लाश, स्कूटी से बंधे थे हाथ; 3 दिन पहले हुई थी पत्नी से बात

कुएं से निकली युवक की लाश, स्कूटी से बंधे थे हाथ; 3 दिन पहले हुई थी पत्नी से बात

Jabalpur News: जबलपुर में कुएं से एक शख्स की लाश मिली. उसके हाथ स्कूटी से बंधे थे.

Jabalpur News: जबलपुर में कुएं से एक शख्स की लाश मिली. उसके हाथ स्कूटी से बंधे थे.

MP Crime News: जबलपुर के संजीवनी नगर में रविवार को उस वक्त हड़कंप मच गया, जब कुछ लोगों ने कुएं में शख्स के पैर देखे. सूचना मिलते ही आनन-फानन में पुलिस पहुंची और लाश को निकाला. लाश को निकालते वक्त पुलिस भी चौंक गई. उसके हाथ स्कूटी से बंधे और स्कूटी कुएं में ही थी. पुलिस ने स्कूटी निकालकर जब्त कर ली और लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया. मृतक के भाई ने बताया कि उसकी 3 तारीख को सुबह 11 बजे पत्नी से आखिरी बार बात हुई थी. उसका किसी युवक से पैसों को लेकर विवाद चल रहा था.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. जबलपुर के संजीवनी नगर थाना इलाके में बरगी से लापता हुए युवक का रविवार को शव मिला. कुएं में मृतक का उल्टा शरीर 90 प्रतिशत तक डूबा हुआ था. सतह से ऊपर सिर्फ उसके पैर दिखाई दे रहे थे. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा. चौंकाने वाली बात ये है कि उसका शव स्कूटी से बंधा मिला. पुलिस ने स्कूटी भी कुएं से निकालकर जब्त कर ली. घटना के बाद से इलाके में सनसनी फैली हुई है. इस घटना के तीन दिन पहले मृतक की आखिरी बार पत्नी से बात हुई थी.

जानकारी के मुताबिक, संजीवनी नगर में रविवार को कुछ लोगों ने बचकेरा क्षेत्र के कुएं में देखा तो उनके होश उड़ गए. कुएं में एक शख्स के पैर दिखाई दे रहे थे. यह नजारा देखने वालों ने तत्काल पुलिस को सूचना दी. उसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बाहर निकलवाया. शव की हालत देख पुलिस भी हैरान रह गई. मृतक के हाथ एक स्कूटी से बंधे हुए थे और स्कूटी भी पानी में डूबी हुई थी. माना जा रहा है कि किसी ने उसके हाथ स्कूटी से बांधकर कुएं में फेंक दिया होगा. पुलिस ने इसी स्कूटी के नंरब से मृतक की पहचान की. पुलिस को पता चला कि युवक का नाम राजेश विश्वकर्मा है और वह बरगी के मुकनवारा गांव का रहने वाला है.

उधार दिए पैसों पर हुआ विवाद
इसके बाद पुलिस ने उसके परिजनों से संपर्क किया और उन्हें जबलपुर बुलाया. मौके पर पहुंचे भरत विश्वकर्मा ने मृतक की शिनाख्त अपने बड़े भाई राजेश विश्वकर्मा के रूप में की. भरत ने बताया कि बरगी थाने में राजेश विश्वकर्मा की गुमशुदगी दर्ज है. राजेश ने रिजवान नाम के परिचित को कुछ पैसे उधार दिए थे. लेकिन जब राजेश ने पैसे मांगे तो रिजवान ने पैसे देने से मना कर दिया. इस बात पर दोनों के बीच विवाद भी हुआ था. राजेश ने बताया कि इसके बाद तीन अगस्त को राजेश जबलपुर आया था. उसने दोपहर 11 बजे अपनी पत्नी से आखिरी बार बात भी की थी. लेकिन इसके बाद से उसका मोबाइल कॉल फॉरवर्ड मोड पर चला गया.

परिवार ने दो दिन किया इंतजार
भरत ने पुलिस को बताया कि दो दिनों तक घरवालों ने राजेश का इंतजार किया. लेकिन, जब वह नहीं लौटा तो परिवार ने 5 अगस्त को थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई और 6 तारीख को उसकी लाश इस तरह मिली. संजीवनी नगर थाना टीआई शोभना मिश्रा का कहना है कि राजेश की लाश कुएं से बरामद हई. पानी में काफी वक्त तक पड़े रहने की वजह से शव फूल गया था. पुलिस ने मर्ग कायम कर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी.

Tags: Jabalpur news, Mp news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर