Home /News /madhya-pradesh /

Interesting News : 3 साल पहले जम्मू में घर से भागा था मासूम, आधार कार्ड ने परिवार से ऐसे मिलवाया...

Interesting News : 3 साल पहले जम्मू में घर से भागा था मासूम, आधार कार्ड ने परिवार से ऐसे मिलवाया...

Jabalpur. 10 साल का बच्चा अपनी मां को देखते ही उनसे लिपट गया.

Jabalpur. 10 साल का बच्चा अपनी मां को देखते ही उनसे लिपट गया.

Jabalpur samachar : आधार कार्ड सिर्फ़ पहचान नहीं बताता बल्कि बिछड़ों को मिला भी सकता है. जबलपुर में एक बच्चे को आधार कार्ड (Aadhar card) ने उसके बिछड़े परिवार तक पहुंचा दिया. अब बच्चा अपने परिवार के पास जम्मू पहुंच गया है

जबलपुर. आधार कार्ड (Aadhar Card) ने चमत्कार कर दिया. उसने सरकार (Government) की बात को साबित कर दिया कि आधार कार्ड बनाना कितना ज़रूरी है. इस एक कार्ड ने परिवार से बिछड़ गए एक बच्चे को तीन साल बाद उसके माता-पिता से मिलवा दिया.

आधार कार्ड सिर्फ़ पहचान नहीं बताता बल्कि बिछड़ों को मिला भी सकता है. जबलपुर में एक बच्चे का आधार कार्ड बनाने की कोशिश ने उसके बिछड़े परिवार की पहचान करा दी. अब बच्चा अपने परिवार के पास जम्मू पहुंच गया है.

AADHAR बिछड़ों को मिलवाता भी है 
बात बड़ी मार्मिक और दिलचस्प है. 10 साल का ये बच्चा जम्मू का रहने वाला है. तीन साल पहले 2018 में ये अपना घर छोड़कर भाग गया था. ये ट्रेन में बैठकर चेन्नई पहुंच गया था. वहां किसी ने इसे बाल कल्याण समिति चेन्नई में पहुंचा दिया. समिति ने वर्ष 2019 में उसे बालगृह जबलपुर भेज दिया. बालगृह में प्रवेश के समय बच्चे की उम्र आठ साल थी. वो अपने घर का पता भी ठीक से नहीं बता पा रहा था. बालगृह में आते ही वहां के स्टाफ ने इसके परिवार की खोजबीन शुरू कर दी. बाल कल्याण समिति जबलपुर ने विशेष किशोर पुलिस इकाई और चाइल्ड हेल्प लाइन के सहयोग से उसका घर ढ़ूंढ़ने के काफी प्रयास किये गये.

ये भी पढ़ें-कांग्रेस ने 1994 में OBC को दिया था 25% आरक्षण, गलत बयानबाजी करने वाले BJP नेताओं पर केस ठोकेंगे विवेक तन्खा

आधार कार्ड से मिला पता
जिला बाल संरक्षण अधिकारी एम.एल. मेहरा ने बताया कि समिति ने बच्चे का आधार कार्ड बनाने की कोशिश जारी रखी. इस बीच ये पता चला कि उसका पहले से रजिस्ट्रेशन हो चुका था. लेकिन तकनीकी खामियों की वजह से आधार कार्ड नहीं बन पाया था. काफी प्रयास के बाद पिछले महीने बायोमीट्रिक का मिलान हो जाने पर उसका आधार कार्ड बन सका. कार्ड में दी गयी जानकारी से पता चला कि बच्चा जम्मू-कश्मीर के सांबा जिले के ग्राम डोलिया का रहने वाला है और घर छोड़कर भागा है.

वीडियो कॉल पर मां को पहचाना
इतनी जानकारी मिलना तो काफी था. उसके बाद फौरन ही सांबा जिले की बाल कल्याण समिति से संपर्क किया गया और जल्द ही बच्चे के परिवार का पता ठिकाना निकल आया. परिवार के बारे में जानकारी मिलने पर जबलपुर और सांबा जिले की बाल कल्याण समिति ने वीडियो कॉल से बच्चे की उसकी मां से बात करवाई. वीडियो कॉल के माध्यम से हुई इस बातचीत में बच्चे ने अपनी मां को पहचान लिया. मां से बात करने के बाद बालक की खुशी का ठिकाना नहीं रहा.

मां को देखकर लिपट गया बच्चा
जब जबलपुर और सांबा दोनों जगह की जिला बाल कल्याण समिति ने पुष्टि कर ली उसके बाद बच्चे के परिवार को जबलपुर बुलाया. बच्चे को लेने उसकी मां, बहन और जीजाजी आए. मां को देखते ही बच्ची उससे लिपट गया. वो पल बेहद भावुक करने वाले थे. बच्चे को उसके परिवार को सौंप दिया गया.

Tags: Aadhar card, Jabalpur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर