अपना शहर चुनें

States

जबलपुर में एक आरक्षक को तीसरी बार हुआ कोरोना, मध्य प्रदेश में पहला मामला

आरक्षक के फेंफड़े कमज़ोर हो गए हैं. (कॉन्सेप्ट इमेज.)
आरक्षक के फेंफड़े कमज़ोर हो गए हैं. (कॉन्सेप्ट इमेज.)

जबलपुर (Jabalpur) में पदस्थ एक आरक्षक को तीसरी बार कोरोना (Corona) हो गया है. उसकी रिपोर्ट तीसरी बार कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है. जो डॉक्टरों के लिए भी हैरानी की बात है.

  • Share this:
जबलपुर.अगर आप कोरोना वायरस (Corona) से संक्रमित हुए हैं और स्वस्थ हो गए हैं तो यह बिल्कुल भी ना समझें कि आप दूसरी बार संक्रमित नहीं हो सकते. यह खबर आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है. जबलपुर में एक पुलिस आरक्षक दो बार नहीं बल्कि तीसरी बार कोरोना वायरस से संक्रमित हो गया है. इस वायरस और इसके संक्रमण की रफ्तार से डॉक्टर भी हैरान हैं.

जबलपुर में पदस्थ एक आरक्षक को तीसरी बार कोरोना हो गया है. उसकी रिपोर्ट तीसरी बार कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है. जो डॉक्टरों के लिए भी हैरानी की बात है. हालांकि मरीज की हालत सामान्य है और मेडिकल अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है. आरक्षक की उम्र 36 साल है. उस कुछ दिन से सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. 24 दिसंबर को आरक्षक को बुखार भी आ गया. बुखार आने के बाद कोरोना की जांच करवाई गई. इसकी रिपोर्ट 26 दिसंबर को आयी जिसमें आरक्षर पॉजिटिव पाया गया.

दो बार ठीक होकर घर लौटे
इससे पहले 11 अगस्त और 9 नवंबर को भी आरक्षक की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. यानि उसे दो बार कोरोना हो चुका है. औरप दोनों बार वो स्वस्थ भी हो गया. आरक्षक ने सरकारी और प्राइवेट अस्पताल में भर्ती होकर अपना इलाज कराया था. आरक्षक के घर में पत्नी और 6 महिने की बेटी है. इसलिए उनकी सेहत को लेकर भी चिंता बढ़ गई है.



डॉक्टर भी हैरान
डॉक्टरों का कहना है संक्रमित होकर स्वस्थ हुआ व्यक्ति भी दूसरी और तीसरी बार संक्रमित हो सकता है. बताया जा रहा है कि कोरोना संक्रमण के कारण आरक्षक के फेफड़े सिकुड़ गए हैं. इस वजह से उन्हें बार-बार संक्रमण हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि तीसरी बार पॉजिटिव आने का यह प्रदेश का पहला मामला है. दरअसल कोरोना का डेड वायरस शरीर में लंबे समय तक रहता है. यानी मरीज़ के ठीक होने के बाद भी उसकी बॉडी में पड़ा ये डेड वायरस कभी भी सक्रिय होकर फिर से उसे कोरोना कर सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज