अपना शहर चुनें

States

जबलपुर में 2 युवक हुए एसिड अटैक के शिकार, बाप-बेटे ने किया हमला

आरोपी नंदन चौधरी और उसका बेटा अतिशय हैं.
आरोपी नंदन चौधरी और उसका बेटा अतिशय हैं.

एसिड अटैक (Accide attack) के शिकार हुए वासु केसरवानी और सृजन मिश्रा की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. आरोपी नंदन चौधरी अपने बेटे छोटू उर्फ अतिशय को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया गया है.

  • Share this:
जबलपुर.जबलपुर के पनागर क्षेत्र में एसिड अटैक(Accide attack) की सनसनीखेज़ घटना सामने आयी है.लेकिन इस बार इस जुल्म की शिकार कोई युवती नहीं बल्कि दो युवक हुए. दोनों युवकों की हालत स्थिर बनी हुई है. आरोपी सगे बाप-बेटे हैं जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है.

एसिड अटैक के लिए बदनाम जबलपुर शहर में फिर यही वारदात हुई. यहां सरेआम दो युवकों पर एसिड फेंक दिया गया. दोनों पीड़ित युवक अब अस्पताल में भर्ती हैं और आरोपी पिता-पुत्र सलाखों के पीछे पहुंचा दिए गए हैं.

रंजिश में एसिड अटैक
फिलहाल मिली जानकारी के मुताबिक  सृजन मिश्रा और वासु केसरवानी नाम के युवक जबलपुर के कमानिया गेट के पास रात करीब 1 बजे बैठे हुए थे. तभी नंदन चौधरी अपने बेटे छोटू उर्फ अतिशय के साथ पहुंचा और बोतल से एसिड निकालकर दोनों के ऊपर फेंक दिया. इसके बाद दोनों उन्हें धमकाते हुए वहां से फरार हो गए.एसिड पड़ते हुए युवक तड़प उठे और चीख-पुकार मच गयी. शोर सुनकर आस-पास के लोग दौड़े और पुलिस को खबर दी. पुलिस ने फौरन युवकों को अस्पताल पहुंचाया.
पुराना विवाद


घटना के तत्काल बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई जिसके बाद पुलिस ने दोनों एसिड पीड़ितों को अस्पताल पहुंचा कर इलाज के लिए भर्ती करवा दिया. एसिड अटैक के शिकार हुए वासु केसरवानी और सृजन मिश्रा की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. पुलिस ने दोनों पीड़ितों की शिकायत पर मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू की और चंद घंटों में ही नंदन चौधरी अपने बेटे छोटू उर्फ अतिशय को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस के मुताबिक दोनों पक्षों के बीच कुछ दिन पहले किसी बात को लेकर नंदन चौधरी से विवाद हुआ था. उसके बाद से ही आरोपी नंदन चौधरी वारदात की फिराक में था. मौका पाकर उसने वासु और सृजन पर एसिड से हमला बोल दिया. इस वारदात में उसके बेटे छोटू उर्फ अतिशय ने भी साथ दिया.

एसिड बिक्री पर प्रतिबंध है
मध्य प्रदेश में एसिड की खरीद और बिक्री पर पूरी तरह प्रतिबंध है. उसके बावजूद ऐसी घटना होना इस बात का उदाहरण है कि एसिड चोरी छुपे बिक रहा है और अपराधियों के हाथ में पहुंच रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज