Home /News /madhya-pradesh /

MP Assembly Election 2023 : चुनावी मेनिफेस्टो में आदिवासी होंगे कांग्रेस का मुख्य मुददा, कमलनाथ ने किया ऐलान

MP Assembly Election 2023 : चुनावी मेनिफेस्टो में आदिवासी होंगे कांग्रेस का मुख्य मुददा, कमलनाथ ने किया ऐलान

कांग्रेस ने बीजेपी के जनजातीय गौरव दिवस के जवाब में जबलपुर में आदिवासी सम्मेलन किया

कांग्रेस ने बीजेपी के जनजातीय गौरव दिवस के जवाब में जबलपुर में आदिवासी सम्मेलन किया

Jabalpur News - 2018 में किसान कर्जमाफी के मुद्दे पर सत्ता में आयी कांग्रेस अब 2023 में आदिवासियों के भरोसे है. आदिवासियों का अगर दिल जीत लिया तो चुनाव भी जीत जाएंगे, इस भरोसे के साथ कांग्रेस आगे बढ़ रही है. बीजेपी ने सोमवार को भोपाल में तो कांग्रेस ने जबलपुर में आदिवासी सम्मेलन किया. यहां कमलनाथ ने ऐलान किया कि 2023 के विधानसभा चुनाव में आदिवासी ही उनके मेनिफेस्टो का मुख्य मुद्दा होंगे.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. अगर 2023 के विधानसभा चुनाव (MP Assembly Election) में कांग्रेस जीतकर फिर सत्ता में लौटी तो आदिवासी समाज उसके मेन एजेंडे में होंगे. यह ऐलान पीसीसी चीफ और पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath) ने आज जबलपुर में किया. आदिवासी जननायक बिरसा मुंडा की जयंती पर कांग्रेस ने यहां सम्मेलन किया था. उसी में ये ऐलान किया गया.

अमर शहीद बलिदानी बिरसा मुंडा को नमन करने कांग्रेस ने एक विशाल मंच सजाया था. लेकिन बातें सियासत की भी होती रहीं. मंच पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत कई दिग्गज नेता नजर आए. मौका था बिरसा मुंडा जयंती का.

2023 पर नजर
2018 में किसान कर्जमाफी के मुद्दे पर सत्ता में आयी कांग्रेस अब 2023 में आदिवासियों के भरोसे है. आदिवासियों का अगर दिल जीत लिया तो चुनाव भी जीत जाएंगे, इस भरोसे के साथ कांग्रेस आगे बढ़ रही है. बीजेपी ने सोमवार को भोपाल में तो कांग्रेस ने जबलपुर में आदिवासी सम्मेलन किया. यहां कमलनाथ ने ऐलान किया कि 2023 के विधानसभा चुनाव में आदिवासी ही उनके मेनिफेस्टो का मुख्य मुद्दा होंगे.

ये भी पढ़ें-MP Assembly Election 2023: आदिवासियों को लुभाने के लिए बीजेपी और कांग्रेस में जोर आजमाइश

सरकारी ठेकेदारों का आयोजन
यहां अपने संबोधन में पूर्व सीएम कमलनाथ ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने भोपाल में हुए जनजातीय गौरव दिवस के आयोजन को प्रशासनिक ठेकेदारों का आयोजन कहा. कमलनाथ का कहना था कि 18 साल बाद शिवराज सिंह चौहान को बिरसा मुंडा और आदिवासियों की याद आई है. ऐसे में समझा जा सकता है कि किस तरह का सम्मान आदिवासियों को भाजपा दे रही है.  उन्होंने कहा प्रदेश में एक करोड़ 65 लाख आबादी आदिवासी है. जो आज भी सबसे पिछड़ी हुई है. इसलिए इनके उत्थान के लिए सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस ही काम कर सकती है.

Tags: Jabalpur news, Kamalnath, Madhya pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर