Assembly Banner 2021

संविधान में एक व्यवस्था बिकने वालों के लिए होनी चाहिए या नहीं होनी चाहिए? पूर्व मंत्री ने किए संविधान और पीएम मोदी पर हमले

कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने बाबा साहब और पीएम पर तीखा हमला बोला. (File)

कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने बाबा साहब और पीएम पर तीखा हमला बोला. (File)

मध्य प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता लघन घनघोरिया. इन्होंने विवादित बयान दिए हैं. इन्होंने बाबा साहब आंबेडकर का नाम लेकर पूछा कि उन्हें नहीं पता था कि मंत्री विधायक बिकेंगे भी.

  • Last Updated: March 21, 2021, 12:15 PM IST
  • Share this:
जबलपुर. कांग्रेस के पूर्व मंत्री लघन घनघोरिया ने विवादित बयान दिए हैं. एक बयान उन्होंने संविधान पर दिया, तो दूसरा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर. उन्होंने कहा- ‘बाबा साहब भीमराव आंबेडकर जी को यह नहीं पता था कि संविधान में एक व्यवस्था लोकतंत्र में बिकने वालों के लिए भी रखनी पड़ेगी…’

घनघोरिया जबलपुर में कांग्रेस के लोकतंत्र सम्मान दिवस पर बोल रहे थे. उन्होंने कहा- जिस वक्त देश कोरोना वायरस से जूझ रहा था, उस वक्त उनकी ही प्रदेश भाजपा लोगों की जिंदगी दांव पर लगा सत्ता गिराने में मस्त थी. वह खुद गुजरात में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ गलबहियां कर रहे थे. उन्हें खुद उस वक्त देश और प्रदेश की जनता की चिंता नहीं थी. यही वजह है कि आज देश कोरोना के गंभीर परिणामों को देख रहा है.

संविधान में हर चीज स्पष्ट लिखी है- पूर्व मंत्री



उन्होंने कहा कि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर ने संविधान में इस बात को स्पष्ट किया है कि यदि किसी विधायक की केजुअल्टी से सीट खाली होती है या फिर किसी अन्य कारणवश वह पद से हटता है तो उपचुनाव की व्यवस्था रहेगी. लेकिन, प्रदेश में बीते साल जो हुआ उसे देख यही कहा जा सकता है कि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर जी को शायद यह नहीं पता था कि उन्हें संविधान में एक व्यवस्था लोकतंत्र में बिकने वालों के लिए भी रखनी पड़ेगी.
बीजेपी पर घनघोरिया ने तीखे जुबानी हमले

इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए जम कर तीखे जुबानी हमले बोले. उन्होंने कहा कि शक्तियों का दुरुपयोग करके भाजपा ने चुनी गई सरकार को बीते साल गिराया. वह दिन हमेशा-हमेशा के लिए लोकतंत्र का काला दिन हो गया है. इस काले दिन के पीछे शिवराज सिंह चैहान का और केंद्र की भाजपा सरकार का पूरा हाथ रहा है.

सीएम शिवराज पर सत्ता के लालच का आरोप

पूर्व मंत्री ने कहा शिवराज सिंह चैहान 15 साल सत्ता में रहने के बावजूद सत्ता के मोह और लालच से दूर नहीं हो पाए. वह हर पल सत्ता गिराने के प्रयासों में ही समय व्यतीत करते रहते थे. इसमें केंद्र की भाजपा सरकार ने उनका साथ देकर संविधान की मर्यादाओं को ही तार-तार कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज