लाइव टीवी

Lockdown 4.0: जबलपुर हाईकोर्ट का आदेश, शराब के ठेकेदारों की मांगों पर विचार करे शिवराज सरकार
Jabalpur News in Hindi

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 19, 2020, 4:21 PM IST
Lockdown 4.0: जबलपुर हाईकोर्ट का आदेश, शराब के ठेकेदारों की मांगों पर विचार करे शिवराज सरकार
इस मामले में 27 मई को अंतिम सुनवाई होगी.

जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur High Court) ने मध्‍य प्रदेश सरकार ( Madhya Pradesh Government) को शराब के ठेकेदारों की मांगों पर विचार करने का आदेश दिया है.

  • Share this:
जबलपुर. मध्‍य प्रदेश सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur High Court) ने शराब के ठेकेदारों की मांगों पर विचार करने का आदेश दिया है. जी हां, इस मामले पर इंदौर, भोपाल और जबलपुर रीजन के शराब ठेकेदारों ने जबलपुर हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी जिस पर आज सुनवाई की गई. 30 शराब ठेकेदारों ( 30 Liquor Contractors) की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने बीते दिनों मध्य प्रदेश सरकार ( Madhya Pradesh Government) के खिलाफ नोटिस जारी किया था. जबकि हाईकोर्ट के नोटिस के बाद आज राज्य सरकार ने पूरे मामले पर अपना जवाब पेश किया. राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि उसने पूरे विवाद के निपटारे के लिए मंत्रियों का एक समूह गठित कर दिया है जो शराब ठेकेदारों की मांगों पर विचार कर रहा है.

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट की गाइडलाइन का रखें ख्याल-हाईकोर्ट
मामले पर आज सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने एक अहम निर्देश दिया है कि सरकार या उसके मंत्रियों का समूह शराब ठेकेदारों की मांगों पर विचार करते हुए पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट की गाइडलाइन का ख्याल जरूर रखें. गाइडलाइन का हवाला देते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि अगर शराब ठेकों की शर्तें लागू नहीं हो पा रही हों तो नए सिरे से ठेके जारी करने पर विचार किया जाना चाहिए. इस अहम निर्देश के साथ हाईकोर्ट ने मामले पर अंतिम सुनवाई के लिए 27 मई की तारीख तय कर दी है.

शराब ठेकेदारों ने की थी ये मांग



आपको बता दें कि शराब ठेकेदारों ने अपनी याचिका में कोरोना लॉकडाउन के दौरान हुए घाटे का हवाला दिया है. साथ ही याचिका में कहा गया है कि अब जब सरकार ने शराब दुकानों के खुलने का समय घटा दिया है तो शराब ठेकेदारों से वसूली गई बिड की रकम भी घटाई जानी चाहिए. इस याचिका में शराब ठेकेदारों ने व्यापार में हुए नुकसान का हवाला देते हुए मांग की है कि सरकार या तो ठेकेदारों की जमा राशि लौटाकर मध्य प्रदेश में शराब के ठेके नए सिरे से आवंटित करे या फिर ठेकेदारों से ली गई बिड की राशि घटाई जाए. फिलहाल हाइकोर्ट ने सरकार को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के न्यायदृष्टांत के मद्देनजर शराब ठेकेदारों की मांगों पर विचार करने के निर्देश दिए हैं.



ये भी पढ़ें

जबलपुर के प्रसिद्ध त्रिपुर सुंदरी मंदिर परिसर में भीषण आग, 16 दुकानें खाक

MP: किसान कर्ज माफी मुद्दे पर BJP-कांग्रेस में तकरार, पूर्व मंत्री जीतू पटवारी बोले- जाएंगे कोर्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 19, 2020, 4:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading