Home /News /madhya-pradesh /

Jabalpur : कोरोना संकटकाल मे लखपति हो गए जिले के 60 हजार गरीब परिवार! पढ़िए ये खबर

Jabalpur : कोरोना संकटकाल मे लखपति हो गए जिले के 60 हजार गरीब परिवार! पढ़िए ये खबर

कोरोना काल में प्रशासन ने बीपीएल  परिवारों का सर्वे कराया था

कोरोना काल में प्रशासन ने बीपीएल परिवारों का सर्वे कराया था

Jabalpur-फिलहाल जिला खाद्य आपूर्ति विभाग जिले में 3 लाख 61 हज़ार परिवारों को बीपीएल (BPL) कार्ड धारी मानते हुए प्रतिमाह राशन दे रहा है. इस आंकड़े में 40 हजार परिवार अति गरीब हैं.

जबलपुर. कोरोना संकट (Corona Crisis) के इस काल में जब हजारों लोग बेरोजगार हो गए. काम धंधे चौपट हो गए. जबलपुर जिले के हजारों परिवार लखपति हो गए. ये सभी गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले यानि BPL परिवार थे. ये कमाल कैसे हुआ इस खबर में पढ़िए.

कोरोना संकट काल के इन 17 महीनों में जबलपुर जिले के 60 हज़ार परिवार लखपति हो गए. सुनने में अजीब जरूर लगेगा लेकिन हुआ तो कुछ ऐसा ही है. जबलपुर जिले में अब सिर्फ 3 लाख 61 हजार बीपीएल परिवार बचे हैं. जबकि पहले ये संख्या 4 लाख 21 हजार थी. यानि 60 हजार परिवार अब गरीब नहीं रहे. आइए और जानते हैं कि ऐसा कैसे हुआ.

सर्वे में खुला सच
दरअसल कोरोना काल में जिला प्रशासन के अलग-अलग विभागों ने बीपीएल परिवारों का सर्वे किया. इसकी बारीकी से जांच की गयी तो कई खामियां निकलीं. इनमें से कई के पते गलत निकले. कुछ ऐसे परिवार हैं जिन्होंने अरसे से सरकारी राशन नहीं लिया है. और कुछ के बताए पते पर जब टीम पहुंची तो वहां झोपड़ी या गरीबी दिखने के बजाए वहां दो से तीन मंजिला मकान बने हुए थे. यानि गरीबी से इनका कोई नाता नहीं था.

बीपीएल कार्ड का दुरुपयोग
स्पष्ट है कि गरीबी रेखा का राशन कार्ड बनवा कर उसका बेजा फायदा उठाया जा रहा है. इसलिए सर्वे टीम की रिपोर्ट के बाद ऐसे 60 हज़ार परिवारों का नाम बीपीएल सूची से काट दिया गया. फिलहाल जिला खाद्य आपूर्ति विभाग जिले में 3 लाख 61 हज़ार  परिवारों को बीपीएल कार्ड धारी मानते हुए प्रतिमाह राशन दे रहा है. इस आंकड़े में 40 हजार परिवार अति गरीब हैं.

सिर्फ नाम काटे, कानूनी कार्रवाई नहीं
पिछले साल लगे लॉकडाउन से लेकर अब तक ऐसे 60 हज़ार फर्जी बीपीएल परिवारों के नाम अब सूची से काट दिए गए हैं जो पात्रता नहीं रखते थे. ऐसे में यह कहा जा सकता है कि यह लोग कभी भी बीपीएल कार्ड के लिए पात्रता नहीं रखते थे और गलत तरीके से कार्ड बनवा कर सरकारी योजनाओं का लाभ पा रहे थे. फिलहाल विभाग ने सिर्फ नाम काटते हुए इतिश्री कर ली है. ऐसे लोगों पर कानूनी कार्रवाई नहीं की गयी है.

Tags: BPL ration card, Corona Pandemic, Jabalpur news, Survey report

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर