• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • JABALPUR : अब जानवरों को भी लगेगा चॉकलेट का चस्का, वेटनरी यूनिवर्सिटी ने बनायी मजेदार कैंडी

JABALPUR : अब जानवरों को भी लगेगा चॉकलेट का चस्का, वेटनरी यूनिवर्सिटी ने बनायी मजेदार कैंडी

जबलपुर की नानाजी देशमुख वेटनरी यूनिवर्सिटी में बनायी गयी कैटल कैंडी 4 दिन चलेगी

जबलपुर की नानाजी देशमुख वेटनरी यूनिवर्सिटी में बनायी गयी कैटल कैंडी 4 दिन चलेगी

Great Invention : नानाजी देशमुख वेटनरी विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों की ओर से तैयार की गयी इस चॉकलेट (Chocolate) को तकनीकी भाषा में कैटल चॉकलेट, कहा जा रहा है जिसे जल्द ही मार्केट में उपलब्ध करा दिया जाएगा. इससे गाय या भैंस (cow or buffalo) में होने वाली तमाम दिक्कतों को दूर करने में आसानी होगी. साथ ही दूध का प्रोडक्शन भी बढ़ेगा

  • Share this:

जबलपुर. अब जानवरों के लिए भी चॉकलेट आने वाली है. एक के बाद एक नये प्रयोग और काम कर रहे जबलपुर के नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय (Nanaji Deshmukh University of Veterinary Sciences) की ये नयी उपलब्धि है. यहां के विशेषज्ञों ने एक खास किस्म की कैंडी चॉकलेट (Candy Chocolate) तैयार की है जो विशेष तौर पर गाय और भैंस (cow or buffalo) के लिए बेहद उपयोगी होगी. यह चॉकलेट खाने में स्वादिष्ट होगी और इससे तमाम पोषक तत्व भी जानवरों को मिल सकेंगे.

जबलपुर का नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय अपने नये आइटम के साथ फिर हाजिर है. इस बार वो प्रोटीन और विटामिन से भरपूर चॉकलेट लेकर आया है. ये चॉकलेट जानवरों के लिए है.

जानवरों को खिलाइए नर्मदा विटामिन लिक
अब चॉकलेट की दीवानगी सिर्फ आम इंसानों तक ही सीमित नहीं रहेगी बल्कि बच्चों और बड़ों के साथ जानवर भी चॉकलेट खा सकेंगे. जबलपुर स्थित नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय में एक खास किस्म की कैंडी तैयार की है. इसे “नर्मदा विटामिन लिक“  नाम दिया गया है. लेकिन यह चॉकलेट आम इंसानों की चॉकलेट से अलग है क्योंकि इसे खाने से किसी भी तरह का नुकसान नहीं बल्कि फायदा ही फायदा होगा. ये चॉकलेट खासतौर से गाय भैंस के लिए है.

ये भी पढ़ें-OMG ! जिप्सी के चक्कर लगाने लगा बाघ तो सैलानियों की अटक गयी सांस…देखें Video

चार दिन चलेगी एक कैंडी
ऐसे समय जब गाय के लिए चारा और भूसे का उपलब्ध न हो तो यह कैंडी उन्हें खिलायी जा सकती है. ये कैंडी उनकी सेहत के लिए बेहद लाभकारी होगी. ये चॉकलेट आयोडीन, गुड सहित कई आवश्यक चीजों को मिलाकर तैयार की गयी है. जानवरों को ये खाने में मीठी और स्वादिष्ट लगेगी. जानवर इससे लिक याने चाट कर खा सकेंगे. एक कैंडी करीब करीब तीन से चार दिन में खत्म होगी.

कैटल चॉकलेट
वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति सीता प्रसाद तिवारी बताते हैं कि उन्होंने पशु पोषण विभाग को यह जिम्मेदारी दी थी कि वह जानवरों के लिए खास किस्म का फूड सप्लीमेंट तैयार करे. इसमें जानवरों को तमाम पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मिल सकें. विशेषज्ञों की ओर से तैयार की गयी इस चॉकलेट को तकनीकी भाषा में कैटल चॉकलेट, कहा जा रहा है जिसे जल्द ही मार्केट में उपलब्ध करा दिया जाएगा. इससे गाय या भैंस में होने वाली तमाम दिक्कतों को दूर करने में आसानी होगी. साथ ही दूध का प्रोडक्शन भी बढ़ेगा. विश्वविद्यालय अब जल्द ही इन कैटल चॉकलेट को किसानों तक उपलब्ध कराने के लिए सरकार को पत्र लिखने वाला है. सरकारी मशीनरी के आधार पर ही इसे प्रदेश भर में जल्द उपलब्ध कराया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज