UP के मोस्ट वांटेड गैंगस्‍टर विकास दुबे की तलाश में शहडोल में छापा, साले के बेटे को उठा ले गयी पुलिस

विकास दुबे की तलाश मे एमपी के शहडोल में छापा
विकास दुबे की तलाश मे एमपी के शहडोल में छापा

यूपी एसटीएफ (STF) की टीम विकास दुबे के साले के घर शहडोल पहुंची और उसके बेटे आदर्श को अपने साथ ले गई.

  • Share this:
जबलपुर. उत्तर प्रदेश (UP) के मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) की तलाश में उत्तर प्रदेश पुलिस मध्य प्रदेश पहुंच चुकी है. विकास दुबे के मध्य प्रदेश के चंबल के बीहड़ या घने जंगल में छुपे होने का इंटेलिजेंस इनपुट है. इन्हीं खबरों के आधार पर यूपी STF की टीम शहडोल जिले के बुढ़ार पहुंची, जहां विकास का साला रहता है. टीम अपने साथ साले के बेटे को ले गयी है.

उत्तर प्रदेश के कुख्यात अपराधी विकास दुबे की यूपी पुलिस लगातार तलाश कर रही है, लेकिन अब तक उसका कोई सुराग हाथ नहीं लगा है. पुलिस गैंगस्‍टर की तलाश में लगातार उसके जान पहचान और रिश्तेदारों के यहां दबिश दे रही है.

साले के घर दबिश
उत्तर प्रदेश के कानपुर में बीते 2 जुलाई को 8 पुलिस जवानों की हत्या के बाद फरार कुख्यात आरोपी विकास दुबे की यूपी पुलिस लगातार तलाश कर रही है. विकास दुबे का साला ज्ञानेन्द्र प्रकाश निगम उर्फ राजू खुल्लर शहडोल जिले के बुढ़ार में बीते 15 साल से रह रहा है. वह यहां भूसे का व्यापार करता है. जब यूपी एसटीएफ की टीम उसके घर पहुंची तो वह घर पर नहीं था. उसके बाद एसटीएफ की टीम उसके बेटे आदर्श को अपने साथ ले गई.
'मैं हर तरह की जांच के लिए तैयार'


ज्ञानेन्द्र उर्फ राजू खुल्लर को जब इस बात की जानकारी लगी तो वह खुद शहडोल जिले के एसपी के पास पहुंचे और बताया कि उनका वर्षों से विकास से कोई संबंध नहीं है. ज्ञानेन्द्र ने बताया कि विकास उसे भी अपराधिक गतिविधियों में फंसाना चाहता था और उस पर भी पहले दो मामले दर्ज हो चुके हैं. इतना ही नहीं वह उसके कानपुर स्थित मकान पर भी कब्जा कर चुका है. जिसे बड़ी मुश्किल से वह वापस ले सका, लेकिन अब उसका विकास से कोई संबंध नहीं है. ज्ञानेन्द्र ने कहा कि उसके बेटे को एसटीएफ लेकर गई है. ज्ञानेन्द्र ने पुलिस से कहा है कि वह हर तरह से पुलिस की मदद के लिये तैयार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज