इस बार नर्मदा कुंभ में दिखेगी अमरकंटक से लेकर भरूच तक की झलक
Jabalpur News in Hindi

इस बार नर्मदा कुंभ में दिखेगी अमरकंटक से लेकर भरूच तक की झलक
नर्मदा कुंभ की तैयारी शुरू

नर्मदा महाकुंभ (narmada kumbh) की शुरुआत 1990 में हुई थी. कलेक्टर भरत यादव के मुताबिक नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक से लेकर भरुच तक आने वाली संस्कृति का समावेश इस बार नर्मदा महाकुंभ में देखने मिलेगा

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जबलपुर. प्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर (jabalpur) में संस्कृति का मेला लगेगा. यहां होने वाले नर्मदा कुंभ (narmada kumbh) की तैयारी शुरू हो गयी. इसमें शामिल होने देश भर से साधु-संत आएंगे. ज़िला प्रशासन का कहना है आयोजन भव्य होगा.

24 फरवरी से 6 मार्च
जबलपुर में अगले साल के शुरू में नर्मदा कुंभ लगेगा. इस साल ये 24 फरवरी से शुरू होकर 6 मार्च तक चलेगा. कुंभ हर 6 साल में होता है. लेकिन इस बार ख़ास बात ये है कि इसे शासन संस्कृति विभाग के कैलेंडर में शामिल किया जा रहा है. ज़िला प्रशासन की ओर से प्रस्ताव भेज दिया गया है.

साधु-संतों को न्यौता-नर्मदा कुंभ में देशभर के साधु-संतों को न्यौता दिया जाएगा. प्रशासन इस आयोजन को भव्य बनाना चाहता है. प्रदेश सरकार भी इसके लिए अलग से बजट देने की घोषणा कर चुकी है. बीते दिनों हुई बैठक में वित्त मंत्री तरुण भानोत ने हर संभव मदद का भरोसा दिलाया था. उसके बाद ज़िला प्रशासन ने प्रस्ताव बनाकर भोपाल भेज दिया है.



1990 में शुरू हुआ था


नर्मदा महाकुंभ की शुरुआत 1990 में हुई थी. कलेक्टर भरत यादव के मुताबिक नर्मदा के उद्गम स्थल से लेकर भरुच तक आने वाली संस्कृति का समावेश इस बार नर्मदा महाकुंभ में देखने मिलेगा. सांस्कृतिक गतिविधियों में लोकगीत, भक्ति भाव से ओतप्रोत भजन और लोक कलाकारों को भी आमंत्रित किया जाएगा. अभी तक नर्मदा कुंभ छोटे स्तर पर होता था.

ये भी पढ़ें-MP : सड़क हादसों में 18 महीनों में 18 हज़ार लोगों की मौत

प्रज्ञा पर कांग्रेस का तंज-जिन पर संगीन आरोप, वो क्या देश की रक्षा करेंगी!
First published: November 21, 2019, 7:21 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading