AK-47 तस्करी केस: जबलपुर में सेना के डिपो पर NIA का छापा, कई अफसर रडार पर
Jabalpur News in Hindi

AK-47 तस्करी केस: जबलपुर में सेना के डिपो पर NIA का छापा, कई अफसर रडार पर
सांकेतिक तस्वीर

इस केस में अब तक 12 से ज़्यादा लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है और अभी कई और ख़ुलासे होने बाक़ी हैं.

  • Share this:
देश के बहुचर्चित AK-47 तस्करी केस में NIA की टीम ने शुक्रवार को जबलपुर में सेना के डिपो पर छापा मारा. सेना के इसी डिपो से AK-47 की तस्करी की गई थी. पूरी कार्रवाई को गुप्त रखा गया. NIA की टीम में 12 लोग शामिल थे. टीम अपने साथ इस मामले के मुख्य आरोपी सुरेश ठाकुर और पुरुषोत्तम को साथ लेकर पहुंची.

AK-47 तस्करी केस की तेज़ी से जांच की जा रही है. टीम अपने साथ इस पूरे रैकेट के मास्टर माइंड COD फैक्ट्री के पूर्व सीनियर स्टोर मैनेजर सुरेश ठाकुर और एक्स आर्मर पुरुषोत्तम रजक को साथ लेकर आयी है. उनकी जानकारी के आधार पर ही पूरी कार्रवाई की जा रही है. फैक्ट्री के करीब एक दर्जन अधिकारी और कर्मचारी एनआईए की रडार पर हैं. ये वो लोग हैं जिनका नाम सुरेश और पुरुषोत्तम ने अपने बयान में लिया है.

NIA की टीम फैक्ट्री के RSD सेक्शन पहुंची. वह यहां के स्टॉक रजिस्टर और बाक़ी बिंदुओं पर जांच कर रही है. लंबे समय से हो रहे तस्करी में COD के कई लोगों के शामिल होने की आशंका है. अब तक यहां से 70 से अधिक AK-47 रायफल की तस्करी हुई है. यहां से ये हथियार बिहार भेजे जाते थे और वहां से बाकी देश में पहुंचते थे. रैकेट का खुलासा अगस्त में हुआ था जब मुंगेर पुलिस ने इरफान नाम के आरोपी को AK-47 रायफल बेचते हुए पकड़ा था.



इस केस में अब तक 12 से ज़्यादा लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है और अभी कई और ख़ुलासे होने बाक़ी हैं. सूत्र बताते हैं कि इस पूरे खेल में एक्स सर्विसमैन सहित फैक्ट्री के आला अधिकारियों के शामिल होने की आशंका है.
LIVE




अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading