• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • Madhya Pradesh Obc Reservation: 27% ओबीसी आरक्षण पर नया विवाद, नई याचिका दायर

Madhya Pradesh Obc Reservation: 27% ओबीसी आरक्षण पर नया विवाद, नई याचिका दायर

जबलपुर हाई कोर्ट 7 अक्टूबर को ओबीसी आरक्षण के मामले में सुनवाई करने जा रहा है.

जबलपुर हाई कोर्ट 7 अक्टूबर को ओबीसी आरक्षण के मामले में सुनवाई करने जा रहा है.

Obc Aarakshan News: ओबीसी महासभा के इस आवेदन ने नए विवाद को भी जन्म दे दिया है क्योंकि इस आवेदन के सातवें और आठवें बिंदु में जो बातें लिखी गई हैं, वह कहीं ना कहीं न्यायपालिका के सम्मान को ठेस पहुंचाती हैं.

  • Share this:

जबलपुर. 27 फ़ीसदी ओबीसी आरक्षण पर अंतिम सुनवाई की शुरुआत भले ही ना हुई हो लेकिन इसके साथ सियासत और विवाद भी जुड़ते जा रहे हैं. दरअसल हाल ही में अखिल भारतीय ओबीसी महासभा द्वारा एक आवेदन हाईकोर्ट में दायर किया गया है. ओबीसी महासभा ने आवेदन के जरिये मांग की है कि ओबीसी संबंधी समस्त याचिकाओं की सुनवाई एक अलग बेंच द्वारा की जा जिसमें न्यायाधीश ना तो ओबीसी वर्ग से हो और ना ही सामान्य वर्ग से.

ओबीसी महासभा के इस आवेदन ने नए विवाद को भी जन्म दे दिया है क्योंकि इस आवेदन के सातवें और आठवें बिंदु में जो बातें लिखी गई हैं, वह कहीं ना कहीं न्यायपालिका के सम्मान को ठेस पहुंचाती हैं. ओबीसी महासभा ने अपने आवेदन में दलील दी है कि आज के आधुनिक सामाजिक परिवेश में भी ब्राह्मण, क्षत्रिय और वैश्य में सदियों पुरानी मानसिकता अभी भी मौजूद है. तीनों ही जातियां पारंपरिक तौर पर चतुर्वर्ण प्रथा में सबसे ऊंची स्थिति रखती हैं.

जाति प्रथा ने आम लोगों में जाति विशेष को लेकर अवधारणाएं पैदा कर दी हैं. ऐसे में ओबीसी जाति के हित को ध्यान में रखते हुए 27 फ़ीसदी आरक्षण के मामले में नई बेंच गठित की जाए जिसमें न्यायाधीश ना तो ओबीसी वर्ग से हो और ना ही सामान्य जाति के क्योंकि ऐसे मामलों में सांप्रदायिक हित छुपा होता है. बहरहाल इस मामले पर 7 अक्टूबर को हाई कोर्ट सुनवाई करने जा रहा है. यह देखना दिलचस्प होगा की न्यायपालिका को कटघरे में रखने वाले इस आवेदन पर न्यायालय क्या अभिमत देता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज