होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /रिश्वतखोर महिला पटवारी को लोकायुक्त ने पकड़ा, नक्शा पास करवाने के एवज में ले रही थी पैसे

रिश्वतखोर महिला पटवारी को लोकायुक्त ने पकड़ा, नक्शा पास करवाने के एवज में ले रही थी पैसे

MP News: जबलपुर की बरेला उप तहसील में पदस्थ महिला पटवारी ममता मोटवानी को लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया.

MP News: जबलपुर की बरेला उप तहसील में पदस्थ महिला पटवारी ममता मोटवानी को लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया.

Corrupt Patwari of Jabalpur: एक एकड़ जमीन का सीमांकन हो गया, नक्शा भी बन गया, लेकिन इस नक्शे को पास कराने के लिए 12000 ...अधिक पढ़ें

जबलपुर. मध्य प्रदेश समेत देश के तमाम राज्यों की सरकारें एक तरफ किसानों की आमदनी बढ़ाने में जुटी हुई हैं, लेकिन सरकारी अधिकारी इन किसानों का शोषण करने से बाज नहीं आ रहे हैं. ताजा मामला मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले का है, जहां एक महिला पटवारी को किसान से रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. जबलपुर में लोकायुक्त पुलिस ने महिला पटवारी को एक किसान से 12 हजार रुपए की रिश्वत लेने के मामले में गिरफ्तार किया है. महिला ने चालाकी दिखाते हुए खुद रुपए नहीं लिए थे, लेकिन वह लोकायुक्त टीम से खुद को ज्यादा देर तक बचा पाने में नाकामयाब रही. पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

जबलपुर जिले के बरेला उप तहसील में पदस्थ महिला पटवारी ममता मोटवानी को लोकायुक्त पुलिस ने गिरफ्तार किया है. महिला पटवारी ने एक किसान से खेत का नक्शा पास करवाने की एवज में 12 हजार रुपयों की रिश्वत मांगी थी. जानकारी के मुताबिक किसान राजेंद्र श्रीपाल का बरेला मेन रोड पर 1 एकड़ का खेत है, जो रिंग रोड के दायरे में आ रहा है. इस खेत का सीमांकन करवाने के लिए राजेंद्र श्रीपाल ने उप तहसील में आवेदन दिया था. इसका सीमांकन भी हो चुका है, नक्शा भी बन चुका है. लेकिन पटवारी ने तहसीलदार से नक्शा पास करवाने की एवज रिश्वत की मांग की थी.

12 हजार रुपए में तय हुआ था सौदा
महिला पटवारी ने किसान राजेंद्र श्रीपाल से तहसीलदार से नक्शा पास करवाने के लिए 15000 की रिश्वत की डिमांड की थी. पटवारी ममता मोटवानी ने आवेदक से कहा था कि नक्शा पास करवाने के लिए तहसीलदार को भी पैसे देने होंगे. इसके बाद आवेदक राजेंद्र श्रीपाल ने लोकायुक्त पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई. इस लोकायुक्त पुलिस ने बातचीत रिकॉर्ड करने के लिए राजेंद्र श्रीपाल को दोबारा पटवारी के पास भेजा और उनके बीच 12000 रुपए में सौदा तय हुआ.

महिला पटवारी की चालाकी काम नहीं आई
सबूत जुटाने के बाद लोकायुक्त पुलिस ने राजेंद्र श्रीपाल को रिश्वत देने के लिए रंग लगे नोट दिए. फिर ममता मोटवानी के पास भेज दिया. ममता मोटवानी ने चालाकी दिखाते हुए खुद पैसे ना लेकर रिटायर्ड कोटवार कैलाश झारिया के जरिए पैसे ले लिए, लोकायुक्त पुलिस दोनों को रंगे हाथों धरदबोचा. जब पुलिस ने कोटवार पूछताछ की तो उसने कहा पटवारी ममता मोटवानी के कहने पर ही उसने रिश्वत के पैसे लिए हैं. फिलहाल लोकायुक्त पुलिस ने मामला दर्ज दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.

Tags: Jabalpur news, Madhya pradesh news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें