अमानक जिलेटिन के आयात को लेकर हाईकोर्ट में PIL, कोर्ट ने मांगा जवाब

जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur High Court) में नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच द्वारा लगाई गई एक जनहित याचिका (PIL) में बताया गया कि देश में चीन (China) से अमानक जिलेटिन आयात किया जा रहा है, जो बहुत ही घातक है.

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 13, 2019, 7:25 PM IST
अमानक जिलेटिन के आयात को लेकर हाईकोर्ट में PIL, कोर्ट ने मांगा जवाब
अमानक जिलेटिन के आयात को लेकर जबलपुर हाई कोर्ट में जनहित याचिका
Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 13, 2019, 7:25 PM IST
जबलपुर. देश में अमानक जिलेटिन का आयात एक बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है. इस मामले पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने केन्द्र सरकार, फूड सेफ्टी एण्ड स्टैंडर्ड अथॉरिटी एवं ड्रग कंट्रोलर जनरल को नोटिस जारी कर 4 सप्ताह में जवाब तलब किया गया है. याचिका में बताया गया है कि अमानक जिलेटिन की चीन से आपूर्ति नियमों को ताक पर रखकर की जा रही है, जिसकी जांच में कई हानिकारक तत्व पाए गए हैं.

चीन से हो रहा अमानक जिलेटिन का आयात
भारत में चीन से अमानक जिलेटिन की आयात के मामले में एक महत्वपूर्ण जनहित याचिका मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में दायर की गई है. नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच की ओर से दायर की गई इस याचिका में कहा गया है कि देशभर में जिलेटिन का उपयोग दवाओं और खाद्य पदार्थों में होता है, लेकिन देश में कई प्राइवेट कंपनियां चायनीज़ जिलेटिन आयात कर रही हैं, जो सेहत के लिए काफी खतरनाक है. इस मामले में अदालत ने केंद्र सरकार,  फूड सेफ्टी एण्ड स्टैंडर्ड अथॉरिटी एवं ड्रग कंट्रोलर जनरल को नोटिस जारी कर 4 सप्ताह में जवाब तलब किया है.

News - नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच की ओर से दायर की गई याचिका
नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच की ओर से दायर की गई याचिका


4 सप्ताह में मांगा जवाब
याचिका में बताया गया है कि अमानक जिलेटिन की चीन से आपूर्ति नियमों को ताक में रखकर की जा रही है, जिसकी जांच कराए जाने पर कई हानिकारक तत्व पाए गए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक चीन से इंपोर्ट किए जाने वाले जिलेटिन में भारी मात्रा मे क्रोमियम और सलमोनेलिया पाया गया है. इस मामले में दो साल पहले याचिकाकर्ता नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच द्वारा ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया को भी पत्र लिखा गया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. याचिकाकर्ता के तर्कों को सुनने के बाद अदालत ने केन्द्र, फूड सेफ्टी एण्ड स्टैंडर्ड अथॉरिटी एवं ड्रग कंट्रोलर जनरल को नोटिस जारी कर 4 सप्ताह में जवाब तलब किया गया है.

यहां होता है जिलेटन का उपयोग
Loading...

जिलेटिन का सबसे प्रमुख उपयोग दवाओं विशेष तौर पर कैप्सूल बनाने में होता है. इसका पाउडर जैली और अन्य खाद्य उत्पादों के रूप में भी सेवन किया जाता है. जिलेटिन ग्लाइसिन और प्रोलिन नामक एमिनो एसिड से बनता है. याचिकाकर्ता ने आज अदालत ने उस रिपोर्ट को भी पेश किया जिसमे चाइना द्वारा सप्लाई किए जाने वाले जिलेटिन की जांच की गई थी. जांच रिपोर्ट के मुताबिक संबंधित जिलेटिन में ईकोली बैक्टीरिया, क्लोसट्रीडियम, सलमोनैल्ला बैक्टिरीया जैसे कई घातक तत्व पाए गए.
ये भी पढ़ें -
सिर्फ 20 फीसदी मामलों मे बचती है जान, जानें भारत में कैसे आया कांगो फीवर
खुशखबरी! रेलवे ने हमसफर एक्सप्रेस से फ्लेक्सी किराया हटाया, तत्काल चार्ज में भी की कटौती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2019, 7:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...