Home /News /madhya-pradesh /

कृषि कानून वापस : दिग्विजय सिंह ने कहा- ये किसानों की जीत, बाकी ने कहा ये राजनीतिक फैसला...

कृषि कानून वापस : दिग्विजय सिंह ने कहा- ये किसानों की जीत, बाकी ने कहा ये राजनीतिक फैसला...

JABALPUR-कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस ऐलान को सियासी बताया है

JABALPUR-कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस ऐलान को सियासी बताया है

Jabalpur News : कृषि कानून (Agriculture Law) वापस लेने के पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) के ऐलान को कांग्रेस ने शुद्ध राजनीतिक फैसला करार दिया. पार्टी ने कहा बीजेपी सरकार को किसान की नहीं चुनाव की चिंता है. उपचुनाव में हार और पांच राज्यों में होने वाले चुनाव को देखते हुए ये फैसला किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज सुबह तीनों कृषि कानून (Agricultural Laws) वापस लेने का ऐलान कर दिया. उसके बाद देशभर में अलग-अलग प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं.  कांग्रेस ने प्रधानमंत्री के इस ऐलान को सियासी बताया है.

मध्य प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट का कहना है केंद्र सरकार मन मर्जी के तहत ही काम करती आ रही है. यही वजह है कि जब यह कृषि कानून बनाए जा रहे थे तब कानूनों के संबंध में किसानों को विश्वास में नहीं लिया. जब कानून लागू कर दिए गए और किसानों का विरोध शुरू हुआ तो अब तक 800 किसान ऐसे हैं जिनकी इस आंदोलन के दौरान जान चली गई. केंद्र सरकार के मंत्री की गाड़ी से किसानों को कुचल दिया गया. इसके बावजूद केंद्र सरकार ने तब इन कृषि कानूनों पर कोई फैसला नहीं लिया.

चुनाव की चिंता-किसान की नहीं
पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट का कहना है केंद्र सरकार में कोई संवेदना ही नहीं है. देश में हाल में हुए उप चुनाव के परिणामों से सरकार को यह बात समझ आ गई कि देश की जनता उनके साथ नहीं है. और अब 5 राज्यों में चुनाव होना है. बीजेपी को पंजाब और यूपी की चिंता है. अगर किसान रूठे रहे तो सत्ता हाथ में नहीं आएगी. केंद्र सरकार ने कृषि कानून तो वापस ले लिए लेकिन किसानों के लिए एमएसपी पर कोई बात नहीं की.

ये भी पढ़ें- उज्जैन साइबर हैकिंग केस : जेल अफसरों ने करवाए IPS और जजों के ई-मेल और फौन हैक!

अब MSP की बात हो जाए
इसके साथ ही पूर्व वन मंत्री उमंग सिंघार ने भी कृषि कानून वापस लेने पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. सिंघार का कहना है सरकार ने कानून तो वापस ले लिए लेकिन एमएसपी पर कोई गारंटी नहीं दी. कानून वापस केवल इसलिए लिए गए हैं कि सरकार को पंजाब और उत्तर प्रदेश के चुनाव नजर आ रहे हैं. उन्होंने कहा सोची समझी राजनीति के तहत कृषि कानून वापस लिए गए हैं.

दिग्विजय सिंह ने कहा
उधर देवास में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने इसे लोकतंत्र की जीत बताया. उन्होंने कहा किसान आंदोलन की विजय हुई. उन बहादुर किसानों को बधाई जो एक साल से धरने पर बैठे थे. प्रसन्नता है कि देश के किसानों ने यह जता दिया कि उनसे बिना पूछे कानून लाएंगे तो किसान अपना हित समझता है. आप उन्हें मूर्ख नहीं बना सकते. दिग्विजय सिंह ने कहा पीएम नरेन्द्र मोदी से मेरी तीन मांगे हैं-
1- इस लोकसभा सेशन में वे इस कानून को निरस्त करने का कानून लाएं.
2- एमएसपी को कानूनन स्वरूप देने के लिए सभी राजनीतिक दल और किसानों के साथ चर्चा करें.
3- जो शहीद हो चुके हैं उन शहीदों को सम्मान के साथ कंपनसेशन दिया जाए.

Tags: Agricultural Law, Madhya pradesh latest news, Pm narendra modi

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर