Jabalpur : बस्ती में चल रही थी फैक्ट्री, तेल और एसेंस से बनाया जा रहा था नकली घी
Jabalpur News in Hindi

Jabalpur : बस्ती में चल रही थी फैक्ट्री, तेल और एसेंस से बनाया जा रहा था नकली घी
पुलिस कार्रवाई का आरोपी के परिवार ने विरोध किया

पुलिस (Police) फिलहाल आरोपी सुरेश गुप्ता से पूछताछ कर रही है. पूछताछ में पता चलेगा कि उसके तार (Network) कहां और किससे जुड़े थे.

  • Share this:
जबलपुर. जबलपुर (Jabalpur) के गुप्तेश्वर इलाके में नकली घी बनाने वाली एक फैक्ट्री का पता चला है. पुलिस ने यहां छापा (Raid) मारकर नकली घी बरामद किया. इस फैक्ट्री में तेल, डालडा और एसेंस मिलाकर देसी घी बनाया जा रहा था. जबलपुर की गुप्तेश्वर थाना पुलिस ने नकली घी बनाने की फैक्ट्री छापा मारकर 50 किलो से ज्यादा नकली घी जब्त किया. ये फैक्ट्री सुरेश गुप्ता नामक शख्स की है जो यहां तेल, डालडा और एसेंस मिलाकर नकली घी बना रहा था. गुप्ता का ये गोरख़धंधा बरसों से फलफूल रहा था.

गोरखधंधे में पूरा परिवार शामिल
क्राइम ब्रांच को मुखबिर से सूचना मिली थी कि गुप्तेश्वर गुरुद्वारा के पास एक घर में नकली घी बनाया जाता है.उसके बाद गोरखपुर थाना स्टाफ के साथ क्राइम ब्रांच ने रेड मारी, मकान में सुरेश गुप्ता नामक शख्स अपने परिवार के साथ रहता है. जब पुलिस ने घर के कमरों की तलाशी ली तो वहां टीन के डिब्बों में डालडा, तेल और बॉटल्स में एसेंस रखा मिला, इसका उपयोग नकली घी बनाने में किया जा रहा था.

पुलिस को देखकर भड़का परिवार
जिस समय पुलिस ने छापा मारा तब परिवार के सभी सदस्य घर पर मौजूद थे. वो पुलिस को देखते ही भड़क उठे और खुद को साफ पाक बताने लगे. उन लोगों ने पुलिस पर दबाव बनाने की भी कोशिश की. लेकिन पुलिस ने जांच की तो नकली घी बनाने के इस गोरखधंधे का पर्दाफाश हो गया. सुरेश गुप्ता के खिलाफ खाद्य विभाग ने मामला दर्ज करवाया.



नकली खाद्य सामग्री का कारोबार
बीते कुछ महीनों में हुई कार्रवाई से पता चल रहा है कि जबलपुर मेंर में नकली खाद्य सामग्री बनाने का कारोबार तेज़ी से बढ़ रहा है. यहां माल बनाने के बाद इसे लोकल, प्रदेश और फिर बाहरी राज्यों में भेजा जा रहा है. इससे पहले हुई ऐसी ही कार्रवाई में दावा किया गया था कि लोगों की सेहत से जुड़े ऐसे मामलों में अपराधियों के नेटवर्क का पता लगाया जाएगा.

पूरे मामले की जांच
पुलिस फिलहाल आरोपी सुरेश गुप्ता से पूछताछ कर रही है. पूछताछ में पता चलेगा कि उसके तार कहां और किससे जुड़े थे. मिलावटी माल कहां-कहां सप्लाई किया जा रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज