लाइव टीवी

नाबालिग सुपारी किलर ने किया अवैध संबंधों का खात्मा, प्रेमिका ने इतने हजार में तय किया था सौदा

Pavan Patel | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 1, 2019, 7:49 PM IST
नाबालिग सुपारी किलर ने किया अवैध संबंधों का खात्मा, प्रेमिका ने इतने हजार में तय किया था सौदा
पुलिस ने आरोपी प्रेमिका और हत्यारे को भेजा सलाखों के पीछे.

जबलपुर में अवैध प्रेम संबंधों का अंत प्रेमी की हत्या से हुआ. प्रेमिका ने अपने प्रेमी की हत्या करवाने के लिए एक नाबालिग को 35 हजार रुपए की सुपारी दी थी. जबकि लार्डगंज थाना पुलिस (Lordganj Police Station) ने आरोपी प्रेमिका और सुपारी किलर को जेल भेज दिया है.

  • Share this:
जबलपुर. अवैध प्रेम संबंधों का अंत प्रेमी की हत्या से हुआ. मामला बेहद संगीन है और आरोपी भी कोई और नहीं बल्कि प्रेमिका है, जिसने अपने प्रेमी की हत्या करने के लिए एक नाबालिग को 35 हजार रुपए की सुपारी दी थी. लार्डगंज थाना पुलिस (Lordganj Police Station) ने मामले की पड़ताल करते हुए आरोपी प्रेमिका के साथ हत्या करने वाले नाबालिग को भी गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है. दरअसल, दीपावली की रात मृतक अवध नरेश तिवारी (Awadh Naresh Tiwari) शराब के नशे में घूम रहा था, जिसे नाबालिग ने काम के बहाने अपने साथ चलने कहा था. जबकि शहर के बाहर पहुंच कर उसने ऑटो चालक अवध नरेश तिवारी की पीठ में चाकू घोंप दिया और फरार हो गया. रास्‍ते से गुजर रहे लोगों ने सड़क हादसे में घायल होने की आशंका के चलते उसे अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन इलाज के दौरान दूसरे दिन उसकी मौत हो गई.

पुलिस की जांच में हुआ ये खुलासा
मामला संदिग्ध था इसलिए पुलिस ने अवध नरेश के शव का पोस्‍टमार्टम करवाया जिसमें पता चला कि उसकी पीठ में चाकू के निशान हैं, लिहाजा मामला गहरा गया. मृतक अवध नरेश तिवारी की पत्नी ने पुलिस को बताया कि अस्पताल में भर्ती कराने के बाद उसे कुछ देर के लिए होश आया था और उसने बताया कि गीता चक्रवर्ती, उसका पति मद्दे चक्रवर्ती, जगदीश चक्रवर्ती और एक नाबालिग ने उसकी हत्या करने के लिए चाकू से मारा है. इसके बाद पुलिस ने गीता और उसके पति को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपराध की पूरी दास्तां बता दी.

नशे में धुत्त होकर करता था परेशान

पुलिस ने वारदात के संबंध में गीता चक्रवर्ती, मद्दू चक्रवर्ती, जगदीश चक्रवर्ती से कड़ी पूछताछ की, जिसमें गीता चक्रवर्ती ने अवध नरेश तिवारी की हत्या करवाना स्वीकार करते हुए बताया कि वह शराब बेचने का धंधा करती है. वह अवध को पिछले 10-12 साल से जानती है, क्‍योंकि वह उसके घर में शराब सप्लाई करता था. पति मद्दू चक्रवर्ती की दिमागी एवं शारीरिक हालत ठीक न होने व हमेशा बीमार रहने से अवध नरेश तिवारी उर्फ शिवा से उसके प्रेम संबध बन गए. शिवा उसके घर में रात में छिप-छिप कर आकर मिलने लगा. यह बात जब बच्चों व परिवार वालों को पता चली तो सभी इस बात का विरोध करने लगे व घर में झगड़ा होने लगा तो उसने अवध नरेश तिवारी को घर आने से मना कर दिया. इसके अलावा घर वालों ने भी उसको कई बार समझाया कि घर मत आया करो, लेकिन वह नहीं माना व हमेशा शराब पीकर घर के बाहर आकर खड़ा हो जाता तथा गाली गलौज करते हुए अपने साथ चलने को कहता था. परेशान होकर उसने शिवा को मरवाने की ठान ली तथा एक-दो परिचित लोगो से चर्चा की पर वे तैयार नहीं हुए. इसी दौरान उसे पता चला कि देवर जगदीश चक्रवर्ती के घर पर किराए पर रहने वाले 17 वर्षीय लड़के का अवध नरेश से विवाद हुआ था, जिसके बाद उसने नाबालिग को हत्या करने के लिए तैयार कर लिया. 35 हजार रुपए में नाबालिग से अवध नरेश को मौत के घाट उतारने का सौदा किया.

दीपावली की एक रात पहले उतारा मौत के घाट
हत्या की प्लानिंग करने के बाद नाबालिग लड़के ने अवध नरेश उर्फ शिवा तिवारी से दोस्ती कर ली और 26 अक्टूबर की रात करीब 8 बजे जब अवध नरेश तिवारी मोहल्ले में ऑटो लेकर आया तो युवक उसे सामान ले जाने के बहाने ऑटो सहित भूलन ले गया. जबकि रास्‍ते में उसने शिवा को चाकू मा दिया. दूसरे दिन पता चला की अवध नरेश तिवारी की मेडिकल में मौत हो गई है. इसके बाद गीता ने 35 हजार रुपए वादे के मुताबिक उसे दे दिए. जबकि पुलिस ने गीता के बयान के आधार पर नाबालिग युवक को गिरफ्तार किया.
Loading...

ये भी पढ़ें-

MP में 'अंडा सियासत' ने पकड़ा जोर, कमलनाथ के मंत्री जीतू पटवारी ने कही ये बात
Top 10 Value Destinations for 2020: मध्यप्रदेश दुनिया का तीसरा सबसे किफायती डेस्टिनेशन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 7:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...