Home /News /madhya-pradesh /

MP News: बिजली के झटके के साथ न्यू ईयर का स्वागत, जानिए अब आपको कितना देना होगा बिल

MP News: बिजली के झटके के साथ न्यू ईयर का स्वागत, जानिए अब आपको कितना देना होगा बिल

मध्य प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को नए साल से बिजली का बढ़ा हुआ बिल मिलेगा. (File)

मध्य प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को नए साल से बिजली का बढ़ा हुआ बिल मिलेगा. (File)

Madhya Pradesh News: मध्य प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने पावर मैनेजमेंट कंपनी ने बिजली का बिल बढ़ा दिया है. नए साल के पहले दिन से प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को बिजली का बिल 14 पैसे प्रति यूनिट बढ़ा हुआ देना होगा. दरअसल, विद्युत नियामक आयोग से मंजूरी मिलने के बाद मध्य प्रदेश पावर मैनेजमेंट कंपनी ने फ्यूल कॉस्ट एडजस्टमेंट यानी ईंधन प्रभार समायोजन 14 पैसे प्रति यूनिट बढ़ाने के आदेश जारी कर दिए हैं. इस बढ़ोत्तरी से मध्य प्रदेश की बिजली कंपनियों को करीब 70 करोड़ रुपये की ज्यादा आय होगी.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. नए साल में मध्य प्रदेश के लोगों का स्वागत बिजली के झटके के साथ हुआ है. अब लोगों को प्रति यूनिट 14 पैसे ज्यादा बिल देना होगा. यानी अगर आपका बिल 100 रुपये आता है तो अब आपको बिजली कंपनी को 114 रुपये देने होंगे. विद्युत नियामक आयोग से मंजूरी मिलने के बाद मध्य प्रदेश पावर मैनेजमेंट कंपनी ने फ्यूल कॉस्ट एडजस्टमेंट यानी ईंधन प्रभार समायोजन 14 पैसे प्रति यूनिट बढ़ाने के आदेश जारी कर दिए हैं.

जानकारी के मुताबिक, इस बढ़ोत्तरी से मध्य प्रदेश की बिजली कंपनियों को करीब 70 करोड़ रुपये की आय ज्यादा होगी. दूसरी ओर, विद्युत नियामक आयोग ने कंपनियों की टैरिफ बढ़ाने वाली याचिकाओं की जानकारी सार्वजनिक कर दी है. कंपनियों ने घरेलू उपभोक्ता, कमर्शियल उपभोक्ता, औद्योगिक उपभोक्ता और कृषि उपभोक्ताओं के बिजली बिलों में अलग-अलग प्रतिशत की वृद्धि प्रस्तावित की है.

बिजली के गलत प्रबंधन का परिणाम- अग्रवाल

विद्युत मामलों में जानकार और रिटायर्ड एमपीईबी अधिकारी राजेंद्र अग्रवाल बताते हैं कि फ्यूल कॉस्ट एडजस्टमेंट यानी एफसीए बढ़ जाने से नए साल की शुरुआत ही महंगी बिजली के साथ हो रही है.  इसके साथ ही साथ विद्युत कंपनियों की टैरिफ याचिका पर अब 21 जनवरी तक आपत्तियां बुलाई गई हैं. एक आपत्तिकर्ता के तौर पर राजेंद्र अग्रवाल बताते हैं कि मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा कोयले का स्त्रोत मौजूद है, इसके बावजूद महंगी बिजली कहीं न कहीं गलत प्रबंधन का परिणाम है. बहरहाल इस बार भी वह इस टैरिफ याचिका पर आपत्ति दर्ज कराएंगे. बता दें, आयोग ने 21 जनवरी तक याचिका में आपत्तियां बुलाई हैं. बिजली कम्पनियों ने आगामी वित्त वर्ष में 3915 करोड़ का घाटा दिखाया है.

इतनी बढ़ोत्तरी चाहती हैं बिजली कंपनियां

  • घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 9.97 प्रतिशत बिजली की बढ़ोतरी प्रस्तावित
  • वाणिज्यिक उपभोक्ताओं के लिए 4.44 प्रतिशत बिजली की बढ़ोतरी प्रस्तावित
  • औद्योगिक उपभोक्ताओं के लिए 5.11 प्रतिशत बिजली की बढ़ोतरी प्रस्तावित
  • सबसे ज़्यादा कृषि उपभोक्ताओं के लिए 10.61 प्रतिशत बिजली की बढ़ोतरी प्रस्तावित

Tags: Jabalpur news, Mp news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर