मध्य प्रदेश की जेलों में अब नयी ड्रेस में नज़र आएंगे क़ैदी, सिर से होगी टोपी ग़ायब

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 16, 2019, 7:39 PM IST
मध्य प्रदेश की जेलों में अब नयी ड्रेस में नज़र आएंगे क़ैदी, सिर से होगी टोपी ग़ायब
क़ैदियों की ड्रेस बदल जाएगी

फिलहाल इन लोगों को 2 बाय 6 की एक टाटपट्टी सोने के लिए मिलती है. इसे अब बड़ा किया जाएगा.

  • Share this:
मध्य प्रदेश की जेलों में बंद क़ैदियों की ड्रेस बदलने वाली है. अब वो सफेद शर्ट-पैजामे और टोपी के बजाए नयी ड्रेस में नज़र आएंगी. क़ैदियों का बिस्तर भी बदलने वाला है. इसके लिए कमेटी बना दी गयी है जो नयी ड्रेस तय करने में मशगूल है.
प्रदेश की जेलो मे बंद कैदियों के पहनावे और उनके रहन सहन का जल्द ही कायाकल्प होने वाला है. जेल विभाग ने कह दिया है कि अब अंग्रेजों के ज़माने की ड्रेस नहीं चलेगी. साथ ही उनका बिस्तर भी पहले से बेहतर किया जाएगा.
नज़र नहीं आएगी सिर पर टोपी
अभी तक क़ैदी सूती कुर्ता- पैजामा और सिर पर टोपी लगाए नज़र आते हैं. ये ड्रेस कोड अंग्रेजों के ज़माने का है. आज भी देश भर में 1894 का प्रिज़न एक्ट और मध्यप्रदेश में 1968 के जेल मैनुअल का पालन हो रहा है. क़ैदियों की ड्रेसकोड और बिस्तर में बदलाव के लिए अब एडीजी की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है. ये कमेटी प्रदेश की अलग अलग जेलों मे बंद क़ैदियों को स्थानीय वातावरण के अनुकूल उनकी पोशाक तय करेगी.

जबलपुर ज़ोन के प्रभारी डीआईजी और जबलपुर जेल अधीक्षक गोपाल ताम्रकार भी इसके सदस्य हैं. उनका कहना है अभी कैदी जो कपड़े पहनते हैं वो काफी मोटे होते हैं. इसलिए अब कमेटी उनके पहनावे मे व्हैराइटी लाएगी और क्वालिटी भी सुधारी जाएगी.
बिस्तर बड़ा होगा
बंदियों के लिए बेहतर बिस्तर मुहैया कराने पर विचार चल रहा है. फिलहाल इन लोगों को 2 बाय 6 की एक टाटपट्टी सोने के लिए मिलती है. इसे अब बड़ा किया जाएगा. क़ैदियों के पहनावे और बिस्तर में ये बदलाव 5 दशक बाद किया जा रहा है.
Loading...

ये भी पढ़ें-नीमच में बाढ़ :आफत की बारिश में पत्ते की तरह बह गयीं गुमठी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 7:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...