लाइव टीवी
Elec-widget

मध्य प्रदेश: प्रदेश अध्यक्ष के सामने फूटा पवई के बीजेपी कार्यकर्ताओं का गुस्सा, कही ये बात

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 27, 2019, 4:41 PM IST
मध्य प्रदेश: प्रदेश अध्यक्ष के सामने फूटा पवई के बीजेपी कार्यकर्ताओं का गुस्सा, कही ये बात
मंडल अध्यक्षों की शिकायत करने आए थे पवआ के बीजेपी कार्यकर्ता

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) बीजेपी (Bjp) में संगठन चुनावों के बीच कार्यकर्ताओं की नाराजगी भी खुलकर सामने आ रही है. जबलपुर (Jabalpur) में प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह (Rakesh singh) से मिलने आए पन्ना जिले की पवई विधानसभा सीट के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सामूहिक इस्तीफे की धमकी देते हुए पवई विधानसभा के चारों मंडल अध्यक्षों को बदलने की मांग कर डाली.

  • Share this:
जबलपुर. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह (Rakesh singh) के साथ पन्ना (Panna) से आए नाराज़ कार्यकर्ताओं की लंबी बातचीत का दौर भी चला. बातचीत खत्म होने के बाद कार्यकर्ताओं में संतोष भरा भाव देखने को मिला. बड़ी संख्या में पहुंचे कार्यकर्ता पहले तो इस्तीफा देने का मन बना कर आए थे, लेकिन बाद में जब बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष (BJP State President) राकेश सिंह से बातचीत हुई तो उन्होंने इस्तीफा (Resign) देने का फैसला दरकिनार कर दिया. कार्यकर्ताओं का आरोप था कि पवई विधानसभा क्षेत्र में हाल ही में हुए पार्टी के चुनावों में दूसरे दलों से आए लोगों को ज्यादा तवज्जो दी गई.

पार्टी में अनदेखी की शिकायत की
उन्होंने अपनी इस नाराज़गी से बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष को भी अवगत कराया. कार्यकर्ताओं ने एक आवेदन पत्र भी सौंपा जिसमें पार्टी के अंदर हो रहे भेदभाव और कार्यकर्ताओं की अनदेखी की बात लिखी गई थी. चर्चा के बाद बाहर आए कार्यकर्ताओं ने साफ कहा कि कुछ मांगें थीं जो हमने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष के सामने रखी हैं. मंडल अध्यक्षों को बदलने के आश्वासन के बाद सभी कार्यकर्ता वापस लौट रहे हैं. बड़ी संख्या में पहुंचे कार्यकर्ताओं के हुजूम से इतना तो जरूर साबित हो गया है कि पार्टी के अंदर सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है.

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा- भाजपा में सबकुछ ठीक

इधर नाराज कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने पार्टी में सब कुछ ठीक-ठाक होने की बात कही है. मंडल चुनावों में छाए गतिरोध को लेकर राकेश सिंह का कहना है कि, 'बीजेपी मध्य प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी है और बीजेपी का हर एक कार्यकर्ता अपने आप में सक्षम है, ऐसे में जब संगठनात्मक चुनाव होते हैं तो हर एक कार्यकर्ता की उम्मीद बढ़ जाती है और वह चाहता है कि उसे अच्छे से अच्छा पद मिले लेकिन यह संभव नहीं है. ऐसे मामलों में नाराज होना सामान्य सी बात है लेकिन पार्टी के अंदर किसी भी तरह की नाराजगी नहीं है.'

सारी मशीनरी शराब और अवैध रेत की बिक्री के इर्द गिर्द
प्रदेश में महंगी हो रही प्याज़ को लेकर राकेश सिंह ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है. राकेश सिंह का कहना था कि प्रदेश सरकार सिर्फ अपनी सत्ता बचाने की जुगत मे जुटी हुई है. जनता के हितों और तकलीफों से सरकार को कोई लेना देना नहीं रहा है. प्रदेश सरकार की सारी मशीनरी शराब और अवैध रेत की बिक्री के इर्द गिर्द लगी हुई है.
Loading...

प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के सवाल को बताया काल्पनिक
प्रदेश में सत्ता परिवर्तन या कह ले कि सरकार गिराने का दावा भाजपा के लिए काल्पनिक हो गया है. ये हम नहीं कह रहे बल्कि खुद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने इस बयान को दिया है. महाराष्ट्र की तर्ज पर प्रदेश मे सत्ता परिवर्तन को लेकर जब उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होंने सवाल को ही काल्पनिक का दर्जा दे डाला. मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि काल्पनिक सवालों पर क्या बात करें. लाजमी है कि महाराष्ट्र की घटना से सबक लेकर प्रदेश भाजपा अब बेहद संभल कर चल रही है. सत्ता गिराने की बात तो दूर अब सत्ता परिवर्तन के सवाल को भी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने काल्पनिक करार दे दिया है जिसके सियासी तौर पर कई मायने निकाले जा सकते हैं.

ये भी पढ़ें -
...तो इस वजह से ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बदला अपना Twitter स्टेटस, निशाने पर हैं ये बड़े नेता
संविदा कर्मचारियों के नियमितिकरण पर ब्रेक! सरकार का नया प्लान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 4:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...