सोशल मीडिया में ट्रेंड कर रहा #SaveDumna, जबलपुर में बक्स्वाहा की तर्ज पर आंदोलन, जानिए सांसद का मूड

मध्य प्रदेश के जबलपुर में स्पोर्ट सिटी के नाम पर हजारों पेड़ काटे जाने का अंदेशा जताया जा रहा है. (Twitter)

मध्य प्रदेश के जबलपुर में स्पोर्ट सिटी के नाम पर हजारों पेड़ काटे जाने का अंदेशा जताया जा रहा है. (Twitter)

मध्य प्रदेश में पर्यावरण को बचाने की बड़ी पहल शुरू हो गई है. जबलपुर में बक्स्वाहा की तर्ज पर आंदोलन हो रहा है. यहां बनने जा रही स्पोर्ट सिटी का लोगों ने विरोध किया है. विकास के नाम पर पर्यावरण को नुकसान कोई नहीं चाहता.

  • Last Updated: June 3, 2021, 1:01 PM IST
  • Share this:

जबलपुर. मध्य प्रदेश के जबलपुर में बक्स्वाहा जैसे आंदोलन की तैयारी हो रही है. विरोध हो रहा है जबलपुर के डुमना में बनने वाली स्पोर्ट सिटी का. एक तरफ पर्यावरण प्रेमियों का कहना है कि इस सिटी की वजह से हजारों पेड़ कटेंगे. वहीं, सांसद राकेश चौधरी का कहना है कि ये प्रोजेक्ट उस जगह से बहुत दूर है, जिसे लेकर विरोध किया जा रहा है. स्पोर्ट सिटी से जबलपुर के पर्यावरण को नुकसान नहीं होगा.

बता दें, सबसे लंबे फ्लाईओवर और सबसे लंबी रिंगरोड के बाद जबलपुर को प्रदेश की पहली स्पोर्ट सिटी की सौगात मिलने जा रही है. केन्द्र सरकार के सहयोग से जबलपुर के डुमना के पास 40 एकड़ जमीन पर स्पोर्ट सिटी बनाने की योजना को मंजूरी मिल गई है. जबलपुर में बनने जा रही प्रदेश की पहली स्पोर्ट सिटी को करीब 50 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जाएगा. इस स्पोर्ट सिटी में जिसमें क्रिकेट और हॉकी स्टेडियम सहित कई खेल गतिविधियों और स्पोर्ट्स ऐकेडमी की भी सुविधा होगी.

सांसद ने कहा उपलब्धि, उधर विरोध शुरू

जबलपुर के सांसद राकेश सिंह ने इस योजना की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि ये जबलपुर के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है. हांलांकि, डुमना इलाके में स्पोर्ट्स सिटी बनाने का विरोध भी तेज हो गया है और ट्विटर पर #SaveDumna (सेव डुमना हैशटैग) ट्रेन्ड करने लगा है. शहर के पर्यापवरण प्रेमियों ने ये कहते हुए डुमना में स्पोर्ट्स सिटी का विरोध शुरू कर दिया कि इससे डुमना नेचर पार्क की बायो डायवर्सिटी प्रभावित होगी और बड़ी संख्या में पेड़ काटे जाएंगे.
विकास के नाम पर पर्यावरण खतरे में

ट्विटर पर सेव डुमना ट्रेंड करने के अलावा फेसबुक पर भी पेज बनाया गया है. यहां भी हजारों लोगों ने ये कहते हुए स्पोर्ट्स सिटी का विरोध शुरु कर दिया है कि उन्हें पर्यावरण को खतरे में डालने की शर्त पर विकास मंजूर नहीं है. बहरहाल, जबलपुर के सांसद राकेश सिंह ने दावा किया है कि कुछ लोग बिना बात को समझे विरोध कर रहे हैं. जबकि, स्पोर्ट्स सिटी से एक भी पेड़ कटने की नौबत नहीं आएगी.

भ्रम फैला रहे विरोधी- सांसद



सांसद राकेश सिंह ने कहा कि स्पोर्ट्स सिटी को डुमना नेचर पार्क में बनाने का भ्रम फैलाया जा रहा है. जबकि 40 एकड़ जमीन में स्पोर्ट्स सिटी, डुमना नेचर पार्क से दूर गधेरी इलाके में प्रस्तावित की गई है. विरोध कर रहे लोगों पर जुबानी हमला करते हुए राकेश सिंह ने उन्हें विरोधी गैंग का नाम दे दिया. सांसद राकेश सिंह ने कहा कि वो जब भी शहर के लिए कोई बड़ी सौगात लाते हैं तब-तब ये तथाकथित गैंग विरोध शुरू कर देती है. अब इन्होंने स्पोर्ट्स सिटी की खिलाफत में सेव डुमना कैंपेन शुरू कर दिया है.

सांसद राकेश सिंह ने दावा किया है कि स्पोर्ट्स सिटी का निर्माण पर्यावरणीय नियमों के तहत बिना कोई पेड़ काटे किया जाएगा. इसके बनने से जबलपुर ही नहीं पूरे महाकौशल अंचल को खेल जगत में नई पहचान मिलेगी. जबलपुर एयरपोर्ट के पास डुमना नेचर पार्क भी उनकी ही कोशिशों से तैयार किया गया था और वो इस उपलब्धि पर गर्व करते हुए शहर को स्पोर्ट्स सिटी की सौगात दिलाने के लिए संकल्पित हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज