Home /News /madhya-pradesh /

क्या फिर बदल जाएगा रानी कमलापति रेलवे स्टेशन का नाम? सरकार के फैसले को HC में चुनौती

क्या फिर बदल जाएगा रानी कमलापति रेलवे स्टेशन का नाम? सरकार के फैसले को HC में चुनौती

Jabalpur News: हबीगंज स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति करने के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है.

Jabalpur News: हबीगंज स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति करने के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है.

rani kamlapati railway station name change: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh News) के कमलापति रेलवे स्टेशन (rani kamlapati railway station indore) का नाम बदलने की चर्चा फिर शुरू हो गई है. सिवनी के एक अधिवक्ता ने हाईकोर्ट (Jabalpur Highcourt News) में जनहित याचिका दायर की है. याचिका में तर्क दिया गया है कि सन 1973 में मुस्लिम गुरु हबीब मियां ने अपनी जमीन स्टेशन के लिए दे दी थी और इसीलिए स्टेशन का नाम हबीबगंज रेलवे स्टेशन रखा गया था. ऐसे शख्स का नाम नहीं हटाया जाना चाहिए. तो वहीं सरकार का कहना है कि हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम कमलापति रेलवे स्टेशन रखने के पीछे ऐतिहासिक कारण है. फिलहाल, हाईकोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सबसे अत्याधुनिक कमलापति रेलवे स्टेशन (rani kamlapati railway station) के नाम बदलने को लेकर एक बार फिर चर्चा शुरू हो गई है. इस बार मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है. सिवनी के एक अधिवक्ता की ओर से हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर यह मांग उठाई गई है कि भोपाल के कमलापति रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर फिर से हबीबगंज रेलवे स्टेशन किया जाना चाहिए. याचिका में तर्क दिया गया है कि सन 1973 में मुस्लिम गुरु हबीब मियां ने अपनी जमीन स्टेशन के लिए दे दी थी और इसीलिए स्टेशन का नाम हबीबगंज रेलवे स्टेशन रखा गया था.

याचिका में कहा गया है कि जिस शख्स ने अपनी जमीन सार्वजनिक काम के लिए दान में दी हो, ऐसे शख्स का नाम नहीं हटाया जाना चाहिए. लिहाजा कमलापति रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर फिर से हबीबगंज रेलवे स्टेशन होना चाहिए. वहीं याचिका में सरकार की ओर से कहा गया है कि हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम कमलापति रेलवे स्टेशन रखने के पीछे ऐतिहासिक कारण है. हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता और सरकार के पक्षों को सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है.

हबीबगंज से नाम बदलकर किया गया था रानी कमलापति स्टेशन

गौरतलब है कि भोपाल के हबीबगंज स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति स्टेशन कर दिया गया था. इस स्टेशन को देश का सबसे आधुनिक स्टेशन भी कहा जाता है, क्योंकि इसमें पीपीपी मोड के तहत शुरू की गई सुविधाएं अपने आप में अंतरराष्ट्रीय स्तर की है. एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित किए गए स्टेशन का उद्घाटन करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक गरिमामय समारोह में भोपाल पहुंचे थे. स्टेशन का नाम बदलने के लिए सरकार ने भी आनन-फानन में फैसला लिया था और उद्घाटन के कुछ घंटों पहले ही इसका नाम रानी कमलापति स्टेशन रखा गया.

ये भी पढ़ें: सारा अली खान ने खजराना गणेश मंदिर में की पूजा, जानिए संकल्प से पहले पुजारी को नाम क्या बताया 

आदिवासी जननायक के नाम पर बदले गए हबीबगंज स्टेशन के नाम को लेकर सूबे में सियासत भी खूब हुई थी. लेकिन आदिवासी फैक्टर होने के चलते विपक्ष उतना ठोस विरोध दर्ज नहीं करा सका. बहरहाल, इस याचिका के माध्यम से सिवनी के याचिकाकर्ता ने सरकार के फैसले पर सवाल उठाए हैं. अब देखना होगी की मध्यप्रदेश हाईकोर्ट याचिकाकर्ता के तर्को से कितना संतुष्ट होता है.

Tags: Bhopal news, Jabalpur news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर