लाइव टीवी

अधिवक्ता परिषद चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट ने बार काउंसिल ऑफ इंडिया से 2 हफ्ते में मांगा जवाब

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 29, 2019, 4:30 PM IST
अधिवक्ता परिषद चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट ने बार काउंसिल ऑफ इंडिया से 2 हफ्ते में मांगा जवाब
सुप्रीम कोर्ट करेगा फैसला एमपी में कौन कराएगा बार काउंसिल चुनाव

2 दिसंबर को होने वाले मध्य प्रदेश स्टेट बार काउंसिल (State Bar Council) के चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने रोक लगा दी है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दो हफ्ते की रोक लगाते हुए बार काउंसिल ऑफ इंडिया को जवाब देने के लिए 2 हफ्ते का समय दिया है.

  • Share this:
जबलपुर. बार काउंसिल ऑफ इंडिया के एक आदेश के खिलाफ मध्य प्रदेश स्टेट बार काउंसिल ने एक एसएलपी (Special Leave Petition) सुप्रीम कोर्ट मे दायर की थी. 2 दिसम्बर को स्टेट बार काउंसिल के चुनाव होने थे, जिसमे पूरे प्रदेश से 56797 अधिवक्ता मतदाता वोट करते. अभी तक स्टेट बार काउंसिल ही इस चुनाव को संपन्न कराता रहा है लेकिन इस बार बार काउंसिल ऑफ इंडिया (Bar Council Of India) ने खुद अपनी मॉनिटरिंग में इस चुनाव को संपन्न कराने के आदेश दिए थे.

25 सदस्यों के लिए 145 उम्मीदवार मैदान में
बार काउंसिल ऑफ इंडिया के इस आदेश के खिलाफ स्टेट बार काउंसिल ने अब सुप्रीम कोर्ट में ये विशेष अनुमति याचिका दायर की है जिस पर सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल चुनाव पर रोक लगा दी है. गौरतलब है कि मध्यप्रदेश स्टेट बार काउंसिल के 25 सदस्यों के चयन के लिए 2 दिसम्बर को चुनाव होने वाले थे. इस चुनाव में प्रदेश के कई नामी अधिवक्ता मैदान में हैं. 25 पदों के लिए कुल 145 उम्मीदवार अपनी किस्मत आज़मा रहे हैं. बार काउंसिल के इस चुनाव में प्रदेश के कुल 56797 अधिवक्ता अपने मताधिकार का उपयोग कर सदस्यों का चयन करेंगे.

कौन कराएगा मध्य प्रदेश में अधिवक्ता परिषद के चुनाव

सुप्रीम कोर्ट द्वारा चुनाव में रोक लगने से फिलहाल निर्वाचन की प्रक्रिया भी रोक दी गई है. अगली सुनवाई में ये स्पष्ट होगा कि क्या मध्य प्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद के चुनाव खुद परिषद संपन्न करवा सकता है या कानूनी तौर पर इसकी इजाज़त बीसीआई यानी बार काउंसिल ऑफ इंडिया के पास है. पूरे मामले में परिषद के वर्तमान अध्यक्ष शिवेन्द्र उपाध्याय का कहना है कि वे अपना अधिकार नहीं खोने दे सकते. प्रदेश का अधिवक्ता अपने हक के लिए जो ज़रूरी लड़ाई होगी वो ज़रूर लड़ेगा.

ये भी पढ़ें -
कमलनाथ सरकार की चुनावी जमावट, निकाय चुनाव से पहले हटाए जाएंगे बीजेपी के ये 'कृपापात्र अफसर'
Loading...

2 बच्चों सहित घर छोड़कर गयी पत्नी, पंचायत ने पति पर ठोक दिया जुर्माना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 4:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...