होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

किराएदार ने किया 66 साल की बुजुर्ग का कत्ल, पुलिस के सामने खोला ये खौफनाक राज

किराएदार ने किया 66 साल की बुजुर्ग का कत्ल, पुलिस के सामने खोला ये खौफनाक राज

Jabalpur News: जबलपुर पुलिस ने 66 साल की बुजुर्ग महिला का मर्डर केस सुलझा लिया है.

Jabalpur News: जबलपुर पुलिस ने 66 साल की बुजुर्ग महिला का मर्डर केस सुलझा लिया है.

MP Crime: जबलपुर पुलिस ने मदन महल थाना इलाके में सनसनी फैलाने वाले केशर बाई हत्याकांड को सुलझा लिया है. 66 साल की महिला की हत्या कालीमठ मंदिर के पास तीन दिन पहले हुई थी. पुलिस ने बताया कि महिला के पूर्व किराएदार ने ही उनका कत्ल किया. वह लूट के इरादे से महिला के घर गया था और हत्या कर दी. पुलिस ने मुख्य आरोपी के साथ-साथ उसके साथी को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक, दोनो आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद सीसीटीवी में दिखाई दिए थे.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. जबलपुर पुलिस ने मदन महल थाना अंतर्गत कालीमठ मंदिर के पास तीन दिन पूर्व हुई हत्या का खुलासा किया है. 66 वर्षीय वृद्धा को उसके ही पूर्व किराएदार ने लूट के दौरान मौत के घाट उतार दिया था. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी युवक और उसका दोस्त मौके से भाग निकले. पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों में दोनों युवक दिखाई दिए. उसके बाद उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की गई और उन्होंने अपना अपराध कबूल कर लिया.

बता दें, तीन दिन पूर्व 8 अगस्त को कालीमठ मंदिर के पास रहने वाली केशर बाई चौकसे की रक्त रंजित लाश उनके कमरे में मिली थी. उनके हाथ-पैर बिजली के तार से बंधे थे और कमरों में रखी अलमारियों का सामान बिखरा पड़ा था. सुबह जब किराएदार अनिल कुमार अविद्रा पानी की मोटर चालू करने के लिए नीचे पहुंचे और केशर बाई को आवाज लगाई तो कोई जवाब नहीं मिला, लेकिन घर के दरवाजे खुले हुए थे. इसके बाद उन्होंने अंदर जाकर देखा. यहां किचिन से लगे हुए कमरे में केशर बाई की लाश पड़ी हुई थी और फर्श पर खून फैला हुआ था.

सीसीटीवी में नजर आए दो आरोपी
इसके बाद उन्होंने तत्काल पड़ोसियों और पुलिस को वारदात की सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने घटना स्थल का मुआयना किया और आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की. सीसीटीवी में दो संदिग्ध युवक नजर आए. पुलिस ने दोनों की पड़ताल की. इस दौरान जानकारी मिली कि एक युवक सिवनी निवासी आकाश पटेल वृद्धा केशर बाई के मकान में किराए से रहता था और कुछ दिन पहले ही मकान खाली करके दूसरी जगह पर रहने लगा था. पुलिस ने तत्काल आकाश की तलाश शुरू की और उसके घर से उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की. पूछताछ के दौरान आकाश ने चोरी और लूट के उद्देश्य से केशर बाई के घर जाने की बात कबूल की.

इस तरह की हत्या
एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के मुताबिक पूछताछ में आकाश ने बताया कि उसे पैसों की जरूरत थी. उसे मालूम था कि केशर बाई घर में अकेली रहती हैं. उन्हें हर महीने पेंशन और किराया मिलता है. इसके बाद उसने अपने दोस्त दीपक पटेल को अपने साथ चलने के लिए राजी किया और दोनों 7 अगस्त की दोपहर केशर बाई के घर पहुंचे. यहां उसने केशर बाई से घर में रखे रुपये देने की बात की, लेकिन उन्होंने मना कर दिया. इसके बाद आरोपी उन पर दबाव डालने लगे तो वे चिल्लाने लगीं. पकड़े जाने के डर से आरोपी ने उनके सिर पर हथौड़ी से वार किया और किचिन में रखी रस्सी एवं बिजली के तार से उनके हाथ-पैर बांध दिए. इसके बाद दोनों ने घर में रखी अलमारियों की छानबीन की, जिसमें सोने-चांदी के जेवर और करीब 1 लाख 35 हजार रुपये भी मिले. पैसे और जेवर लेकर दोनों वहां से भाग निकले. पुलिस ने दोनों युवकों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 5 तोले सोने के जेवर और चांदी के जेवर एवं 1 लाख 30 हजार रुपये नगद बरामद कर लिए हैं. दोनों के विरूद्ध धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर जेल भेज दिया है.

अगली ख़बर