Home /News /madhya-pradesh /

खुशखबरी! जबलपुर-अजमेर दयोदया एक्सप्रेस भी अब दौड़ेगी 200KM की स्पीड से! आसान होगा सफर

खुशखबरी! जबलपुर-अजमेर दयोदया एक्सप्रेस भी अब दौड़ेगी 200KM की स्पीड से! आसान होगा सफर

JABALPUR : जर्मन तकनीक से बनाए गए LHB कोच कपूरथला कोच फैक्ट्री पंजाब में तैयार किये गए हैं.

JABALPUR : जर्मन तकनीक से बनाए गए LHB कोच कपूरथला कोच फैक्ट्री पंजाब में तैयार किये गए हैं.

Indian Railway News: जबलपुर-अजमेर-जबलपुर का सफर और आरामदायक होने वाला है. पश्चिम मध्य रेलवे इस एक्सप्रेस में LHB कोच लगाने जा रहा है. जर्मन तकनीक से बनाए गए ये कोच फिलहाल शताब्दी और राजधानी जैसी सुपरफास्ट ट्रेनों में लगाए जा चुके हैं. जबलपुर-अजमेर-जबलपुर दयोदया एक्सप्रेस ट्रेन 6 दिसंबर से एलएचबी कोच के साथ चलेगी. इस नए सुरक्षित और अत्याधुनिक कोच से इस गाड़ी की सुरक्षा और गति दोनों बढ़ जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. मध्यप्रदेश के यात्रियों के लिए अब राजस्थान का सफर ज्यादा आरामदायक और सुरक्षित होने जा रहा है. इस रूट पर चलने वाली जबलपुर- अजमेर- जबलपुर दयोदया एक्सप्रेस (Jabalpur-Ajmer-Jabalpur Dayodaya Express) में भी अब LHB कोच लगाए जा रहे हैं जिनकी सीट ज्यादा लंबी हैं और उनमें जर्क भी नहीं लगता. ट्रेन 200 किमी की रफ्तार से दौड़ती है. जर्मन तकनीक से बनाए गए ये कोच फिलहाल शताब्दी और राजधानी जैसी सुपरफास्ट ट्रेनों में लगाए जा चुके हैं. पश्चिम मध्य रेलवे अब अपने रेल मंडल में चलने वाली ट्रेनों ये कोच लगवा रहा है.

जबलपुर-अजमेर-जबलपुर दयोदया एक्सप्रेस ट्रेन 6 दिसंबर से एलएचबी कोच के साथ चलेगी. इस नए सुरक्षित और अत्याधुनिक कोच से इस गाड़ी की सुरक्षा और गति दोनों बढ़ जाएगी. दयोदया एक्सप्रेस फिलहाल 24 कोच के साथ चलती है.

ज्यादा लंबी सीट और कोई झटका नहीं
जबलपुर रेल मंडल के सीनियर डीसीएम  विश्वरंजन ने बताया कि जबलपुर से अजमेर के बीच चलने वाली दयोदया एक्सप्रेस (गाड़ी नंबर 12181/12182) 6 दिसंबर से जर्मन तकनीकी से निर्मित एलएचबी (लिंक हाफमन बुश) कोचों से चलेगी. ये नए कोच पुराने कोच की अपेक्षा 1.7 मीटर अधिक लंबे हैं. इसमें यात्रियों के लिए सभी श्रेणियों में बर्थ भी सामान्य कोच की तुलना में अधिक हैं. साथ ही इन कोच के साथ ट्रेन को अधिकतम 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलाया जा सकता है. ये कोच ज्यादा सुरक्षित हैं. इनकी खासियत है कि कोई अप्रत्याशित दुर्घटना होने पर एक-दूसरे के ऊपर नहीं चढ़ते हैं. सीनियर डीसीएम विश्वरंजन के मुताबिक एलएचबी रैक के इन कोच में यात्रा भी ज्यादा आरामदायक होती है. क्योंकि इनमें जर्क नहीं लगता है. जबलपुर रेल मंडल कई मेल/एक्सप्रेस गाड़ियों में ये कोच लगा चुका है.

ये भी पढ़ें- केन-बेतवा लिंक परियोजना : खत्म हुआ MP-UP के बीच पानी का झगड़ा, बुधवार को मिल सकती है केंद्र की मंजूरी

कपूरथला में बनते है LHB कोच
आरामदायक सफर देने वाले ये LHB कोच पंजाब की कपूरथला रेल कोच फैक्टरी में बनाए जाते हैं. LHB कोच सबसे पहले गतिमान एक्सप्रेस, शताब्दी एक्सप्रेस और राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में लगाये गए थे. बाद में भारतीय रेलवे ने सभी ट्रेनों में ये कोच लगाने का फैसला किया. यह कोच सुरक्षा, गति, क्षमता, आराम के मामलों में पुराने कोच से बेहतर हैं. कोच एल्युमीनियम से बनाए जाते हैं. इस वजह से हल्के होते हैं. इन कोचों में डिस्क ब्रेक का प्रयोग होता है. इनकी अधिकतम रफ्तार 200 किमी प्रति घंटे होती है और इसमें बैठने की क्षमता ज्यादा होती है.

Tags: Indian Railway news, Irctc, Jabalpur news, Madhya pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर