होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

शिवलिंग विसर्जन के दौरान बड़ा हादसा, 2 नाबालिग बहनों का फिसला पैर, तालाब में डूबने से मौत

शिवलिंग विसर्जन के दौरान बड़ा हादसा, 2 नाबालिग बहनों का फिसला पैर, तालाब में डूबने से मौत

दोनों बहनें सोमवार की दोपहर रूद्राभिषेक के बाद शिवलिंग विसर्जन के लिए गांव के बाहर बने तालाब पर गईं थीं.

दोनों बहनें सोमवार की दोपहर रूद्राभिषेक के बाद शिवलिंग विसर्जन के लिए गांव के बाहर बने तालाब पर गईं थीं.

जबलपुर जिले के पाटन थानाक्षेत्र में आने वाले उड़ना करहैया गांव में एक हादसा हो गया. यहां दो नाबालिग बच्चियों की पानी में डूबने से मौत हो गई. दोनों सगी बहनें थीं. बच्चियों के परिवार ने सावन के सोमवार को भगवान शिव का रुद्राभिषेक का किया था. पूजा के बाद शिवलिंग को विसर्जन के लिए ले गईं थी. इसी दौरान तालाब के पास से दोनों का पैर फिसल गया और पानी में चली गईं. ग्रामीणों ने तत्काल 1 बच्ची को बाहर निकाल लिया था. जिसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. वहीं दूसरी बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई थी.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में 2 नाबालिग बच्चियों की पानी में डूबने से मौत हो गई. मामला  जबलपुर के पाटन थाना अंतर्गत उड़ना करहैया गांव का है. यहां दोनों बहनें में दो बहनों की जल समाधि बन गई. दोनों बहनें सोमवार की दोपहर रूद्राभिषेक के बाद शिवलिंग विसर्जन के लिए गांव के बाहर बने तालाब पर पहुंची थी. उनके साथ उनकी मां और दादी भी तालाब पर गई थीं. बताया जा रहा है कि शिवलिंग विसर्जन के दौरान 12 वर्षीय निधि और 16 वर्षीय नेहा का पैर फिसला और दोनों बहनें तालाब में डूबने लगीं.

इस दौरान मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने उन्हें बचाने के लिए तालाब में छलांग लगाई और कुछ देर में ही नेहा को बेहोशी हालत में बाहर निकाल लिया. लेकिन निधि गहरे पानी में डूब गई. काफी प्रयास के बाद निधि को भी तलाश कर बाहर निकाला गया. लेकिन तब तक उसकी सांसें थम चुकी थीं. गंभीर हालत में नेहा को जबलपुर अस्पताल लाया गया. जबकि निधि के शव का पाटन में पोस्टमार्टम किया गया. मंगलवार सुबह नेहा ने भी इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

निधि और नेहा की मौत से पूरे गांव में मातम छाया हुआ है. वहीं परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. घटना के बाद पुलिस ने दोनों बहनों के शव का पोस्टमार्टम करवाया और पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए. बहरहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है. बताया जा रहा है कि शासन की योजना के तहत गांव में तालाब बनाया जा रहा था जिसका काम बारिश के दौरान रोक दिया गया है.

Tags: Jabalpur news, Madhya pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर