लाइव टीवी

झाबुआ उपचुनाव: आचार संहिता उल्लंघन के मामले में भाजपा MLA गिरफ्तार, वोटिंग से पहले मचा सियासी बवाल

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 20, 2019, 10:26 PM IST
झाबुआ उपचुनाव: आचार संहिता उल्लंघन के मामले में भाजपा MLA गिरफ्तार, वोटिंग से पहले मचा सियासी बवाल
झाबुआ में बीजेपी विधायक पर आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज.

झाबुआ उपचुनाव (Jhabua by-election) का प्रचार थमने के बाद इलाके में डटे रहने के कारण भारतीय जनता पार्टी के विधायक रमेश मेंदोला (BJP MLA Ramesh Mendola) को झाबुआ के कल्याणपुरा (Kalayanpura) की अन्तरबेलिया चौकी पुलिस ने किया गिरफ्तार किया है. उनके साथ युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष गौरव रणदिवे (Gaurav Ranadive) भी पुलिस की गिरफ्त में हैं. इस मामले के बाद भाजपा और कांग्रेस में घमासान मच गया है.

  • Share this:
भोपाल/झाबुआ. झाबुआ में चुनाव प्रचार थमने के बाद भी इलाके में डटे बीजेपी विधायक रमेश मेंदोला (BJP MLA Ramesh Mendola) और युवा मोर्चा के नेता गौरव रणदिवे (Gaurav Ranadive) को लेकर सियासी बवाल उठ खड़ा हुआ है. बीजेपी विधायक को झाबुआ के कल्याणपुरा (Kalayanpura) की अन्तरबेलिया चौकी पुलिस ने किया गिरफ्तार किया है. उनको बीजेपी ने झाबुआ में चुनाव प्रभारी बनाया है. रमेश मेंदोला को चुनावी आचार संहिता के तहत 19 अक्टूबर की शाम 5 बजे झाबुआ को छोड़ देना था, लेकिन आज झाबुआ में मिले बीजेपी विधायक को आचार संहिता के उल्लंघन मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस ने धारा 188 के तहत कार्रवाई की है. मेंदोला के अलावा भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष गौरव रणदिवे को भी पुलिस ने गिरफ्तार झाबुआ के राणापुर से गिरफ्तार किया है.

कांग्रेस ने किया पलटवार
भाजपाईयों के झाबुआ उपचुनाव के प्रचार की समय सीमा खत्म होने के बाद भी डटे रहने के मामले में अब कांग्रेस हमलावर हो गई है. प्रदेश के मंत्री पीसी शर्मा ने भाजपा नेताओं पर गोपनीय तरीके से झाबुआ में डेरा डाल चुनाव को प्रभावित करने का आरोप लगाया है. उन्‍होंन भाजपाईयों पर चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में कार्रवाई की मांग की है. शर्मा ने चुनाव आयोग से रमेश मेंदोला
की विधायकी को निरस्त कर चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित करने की मांग की है. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता जेपी धनोपिया ने इस मामले में चुनाव आयोग को शिकायत कर मेंदोला और गौरव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. जबकि कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने भाजपाईयों के झाबुआ से गिरफ्तारी पर पंद्रह सालों में किए गये भ्रष्टाचार के पैसों का चुनाव में खुलकर दुरुपयोग का आरोप लगाया है.

रमेश मेंदोला ने दी सफाई
बीजेपी विधायक ने अपनी गिरफ्तारी पर सफाई देते हुए कहा कि वे संत कनकेश्वरी देवी के दर्शन करने गुजरात जा रहे थे. इस दौरान वो झाबुआ क्षेत्र से गुजर रहे थे उसी समय पुलिस ने बिना वजह गिरफ्तार कर लिया, क्योंकि झाबुआ उपचुनाव में कांग्रेस अपनी संभावित हार से बौखलाहट में हैं. मेंदोला पिछले 45 दिन से झाबुआ में ही डेरा डाले हुए थे. बीजेपी प्रत्याशी भानू भूरिया को उन्हीं की सिफारिश पर टिकट मिला है. इसलिए इस चुनाव में उनकी प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है.

बीजेपी ने बताया कांग्रेस की बौखलाहट
Loading...

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद राकेश सिंह ने झाबुआ के प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों को स्पष्ट संदेश दिया है कि वे सरकार के अनैतिक दबाव में आकर चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिश ना करें. सिंह ने कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं को अनेक स्थानों से ऐसी सूचनाएं और साक्ष्य मिल रहे हैं कि प्रशासनिक अधिकारी सरकार की नजर में अपने नंबर बढ़ाने के लिए चुनाव प्रक्रिया को अनैतिक रूप से प्रभावित करना चाहते हैं. जबकि पूर्व विधायक और इंदौर नगर के अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा ने कहा कि कांग्रेस बदले की भावना से काम कर रही हैं. झाबुआ उपचुनाव में कांग्रेस को अपनी हार सामने दिखाई दे रही है इसलिए वो बौखलाहट में इस तरह के कदम उठा रही है. रमेश मेंदोला गुजरात जा रहे थे लेकिन पुलिस ने बीच रास्ते मे रोककर उन्हें अरेस्ट कर लिया. बीजेपी इसका हर स्तर पर विरोध दर्ज कराएगी.

ये भी पढ़ें-
सीनियर अधिकारियों के सामने सिपाही ने मंत्री के छुए पैर, खाकी की साख दांव पर

भोपाल के बाद इंदौर-जबलपुर को बांटने की तैयारी में कमलनाथ सरकार, BJP ने दी ये 'चेतावनी'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झाबुआ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 10:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...