हादसा: पुलिया से नीचे गिरी बस, 1 महिला की मौत, 70 घायल

माछलिया घाट पर बस पलटने से कई लोग घायल हो गए.

माछलिया घाट पर बस पलटने से कई लोग घायल हो गए.

एनएच 47 पर झाबुआ से 15 किमी दूर एक यात्री बस पुलिया से नीचे गिर गई. हादसा माछलिया घाट पर हुआ, जहां अक्सर हादसे होते रहते हैं. प्रशासन और शासन की सुस्ती लोगों को मौत के मुहाने खड़ा कर देती है.

  • Last Updated: December 17, 2020, 9:03 AM IST
  • Share this:
झाबुआ. झाबुआ से 15 किमी दूर माछलिया घाट पर उस वक्त चीख-पुकार मच गई, जब एक बस पुलिया से नीचे गिर गई. हादसे में करीब 70 लोग घायल हुए हैं, जबकि एक महिला की मौत हो गई. 5 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है. हादसा एनएच-47 पर देर रात हुआ. बस में सवार कुछ लोग ड्राइवर के नशे में होने की बात कह रहे हैं, तो कुछ लोग ज्यादा सवारी होने का आरोप लगा रहे हैं. उत्तर प्रदेश के बनारस से गुजरात के सूरत जा रही बस जब देर रात माछलिया घाट से गुजरी तो बस का संतुलन बिगड़ गया और वह पुलिया से नीचे जा गिरी. बस में काम की तलाश में गुजरात जा रहे लोग सवार थे. बस में बड़ी संख्या में महिलाएं और बच्चे भी थे.

ड्राइवर पर लगाया शराब पीने क आरोप बस से आ रही चीख-पुकार सुनकर पास से गुजर रहे लोगों ने 108 एबुंलेंस को बुलाया. लोगों को निकालने के लिए बस के कांच तोड़ने पड़े. उन्हें तुरंत झाबुआ जिला अस्पताल और रामा सामुदायिक केंद्र पहुंचाया गया. बस में सवार कुछ लोगों का आरोप है कि ड्राइवर और उसका साथ पूरे रास्ते शराब पीते हुए आए. हर ढाबे पर उन्होंने शराब पी और इससे वे बस संभाल नहीं पाए. इस वजह से उन्हें पुलिया भी नहीं दिखी और उन्होंने बस पलटा दी.

तीन गुना ज्यादा थे यात्री हादसे को लेकर लोगों का कहना है कि यूपी से बड़ी संख्या में लोग रोजगार की तलाश में पलायन कर रहे हैं. इस समय परिवहन के साधन कम हैं, इसलिए बस मालिक उनकी मजबूरी का  फायदा उठा रहे हैं. लोगों ने बताया कि बस में जगह थी 36 लोगों की, जबकि थे 90 लोग. बताया जाता है कि माछलिया घाट पर अक्सर हादसे होते हैं. यहां घंटों लंबा जाम लगा रहता है. दरअसल ये घाट अधूरा है और इस पर बनी पुलिया जर्जर हो चुकी है. कई बार शिकायत के बाद भी नेशनल हाई वे ऑथोरिटी पुलिया निर्माण नहीं कर पा रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज