Home /News /madhya-pradesh /

महंगाई के मुद्दे पर झाबुआ में दिग्विजय सिंह ने की कांग्रेस और बीजेपी शासनकाल की तुलना

महंगाई के मुद्दे पर झाबुआ में दिग्विजय सिंह ने की कांग्रेस और बीजेपी शासनकाल की तुलना

दिग्विजय सिंह ने बीजेपी और ओवैसी को एक ही सिक्के के दो पहलू कहा.

दिग्विजय सिंह ने बीजेपी और ओवैसी को एक ही सिक्के के दो पहलू कहा.

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश में पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा वैट वसूला जा रहा है. यूपीए सरकार के समय सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी करीब 9 रुपये प्रति लीटर थी, जो अब मोदी सरकार 33 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा वसूल रही है.

झाबुआ. महंगाई के मुद्दे पर राज्य और केंद्र सरकार को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने घेरा है. वे झाबुआ पहुंचे थे. आज यहां उन्होंने अलग-अलग मुद्दों पर कई बयान दिए. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने प्रद्युम्न सिंह के बयान पर कहा कि लोगों को सलाह देने वाले मंत्री खुद साइकिल से क्यों नहीं चलते हैं.

'पेट्रोल पर एमपी में सबसे ज्यादा वैट'

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश में पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा वैट वसूला जा रहा है. यूपीए सरकार के समय सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी करीब 9 रुपये प्रति लीटर थी, जो अब मोदी सरकार 33 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा वसूल रही है. अगर एनडीए सरकार यूपीए सरकार के समय जितना ही एक्साइज ड्यूटी कर दे तो पेट्रोल 25 रुपये सस्ता हो सकता है.

'बीजेपी और औवेसी दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू'

दिग्विजय सिंह ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और एआईएमआईएम के औवेसी के बीच के चैलेंज को लेकर कहा कि बीजेपी फूट डालो और शासन करो की नीति पर है. बीजेपी और औवेसी दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं. आजादी के पहले जिस तरह से हिंदू महासभा और मुस्लिम लीग अंग्रेजों की मदद करती थी, उसी तरह अब आरएसएस और औवेसी बीजेपी की मदद करते हैं.

'यूपी में पैसे और पावर की जीत'

यूपी में बीजेपी को जिला पंचायत में मिली जीत पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि ये पावर और पैसे की जीत है. डर और भय की राजनीति बीजेपी पर कर रही है. दिग्विजय सिंह झाबुआ पहुंचे थे, जहां उन्होंने कोरोना काल में जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धाजंलि अर्पित की.

Tags: Digvijay singh, Inflation, NDA, UPA

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर