अपना शहर चुनें

States

झाबुआ उपचुनावः इंदौरी नेताओं पर जीत-हार का दारोमदार, बीजेपी और कांग्रेस ने झोंकी ताकत

झाबुआ उपचुनाव के मतदान की तारीख नजदीक आते देख दोनों दलों ने आजमाइश तेज कर दी है.
झाबुआ उपचुनाव के मतदान की तारीख नजदीक आते देख दोनों दलों ने आजमाइश तेज कर दी है.

झाबुआ विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly By-election 2019) के लिए होने वाले मतदान (Voting Day) में अब हफ्तेभर से भी कम का समय बचा है. कांग्रेस (Congress) और भाजपा (BJP), दोनों दलों के दिग्गज नेताओं ने अपनी पार्टी के उम्मीदवार की जीत के लिए पूरी ताकत झोंक दी है.

  • Share this:
झाबुआ. आगामी 21 अक्टूबर को होने वाले झाबुआ विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly By-election 2019) का प्रचार समाप्त होने में अब अंतिम पांच दिन ही बचे हैं. ऐसे में बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) ने अपनी-अपनी पार्टी के उम्मीदवारों की जीत के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया (Kantilal Bhuria) को घेरने के लिए इंदौर से बीजेपी के 15 प्रमुख नेता झाबुआ पहुंच गए हैं. वे 19 अक्टूबर तक यहां डेरा जमाए रखेंगे. दूसरी ओर, भाजपा के उम्मीदवार भानू भूरिया (Bhanu Bhuria) को शिकस्त देने के लिए कांग्रेस ने भी पूरी तैयारी कर रखी है. कांग्रेस की तरफ से प्रदेश सरकार के कई मंत्री और अन्य वरिष्ठ नेता झाबुआ में पूरे जोर-शोर से चुनाव प्रचार में जुटे हैं. दोनों दी दलों के चुनाव रणनीतिकारों में एक खास बात यह है कि अधिकतर नेता इंदौर या आसपास के क्षेत्र से ताल्लुक रखते हैं. यानी झाबुआ उपचुनाव में जीत या हार का दारोमदार इंदौरी नेताओं पर टिका हुआ है. आपको बता दें कि झाबुआ में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे, जबकि मतगणना 24 अक्टूबर को होगी.

भाजपा की टीम में बड़े-बड़े सूरमा
भाजपा की तरफ से अपने उम्मीदवार भानू भूरिया के चुनाव प्रचार की कमान पार्टी के कुशल संगठक माने जाने वाले पूर्व महापौर कृष्णमुरारी मोघे ने संभाल रखी है. बीजेपी विधायक रमेश मेंदोला शुरू से ही झाबुआ में डटे हुए हैं. इसके अलावा विधायक महेंद्र हार्डिया, प्रदेश उपाध्यक्ष सुदर्शन गुप्ता, जीतू जिराती, पूर्व विधायक राजेश सोनकर, प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा भी प्रचार की बागडोर संभाले हुए हैं. पार्टी के युवा मोर्चा को भी अहम जिम्मेदारी दी गई है, क्योंकि चुनाव में भाजयुमो के जिलाध्यक्ष भानू भूरिया ही मैदान में हैं. युवा मोर्चा के इंदौर नगर अध्यक्ष मनस्वी पाटीदार, प्रदेश पदाधिकारी प्रदीप नायर और गौरव रणदिवे पूरी जिम्मेदारी के साथ पार्टी की जीत की राह आसान करने में जुटे हैं. चुनाव के आखिरी दिनों में बीजेपी की दिग्गज नेता और लोकसभा की पूर्व स्पीकर सुमित्रा महाजन और सांसद शंकर ललवानी भी झाबुआ में प्रचार करते नजर आएंगे. सोमवार को पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने रोडशो के जरिए भानू भूरिया को वोट देने की अपील की है.

Jhabua Assembly By-election 2019-BJP and Congress leaders-last five day left for voting
झाबुआ में कांग्रेस ने जहां कई मंत्रियों और नेताओं को लगा रखा है, वहीं भाजपा ने भी नेताओं की फौज उतार रखी है.

कांग्रेस के कैंप में भी दिख रहा दम


झाबुआ उपचुनाव के मतदान की तारीख ज्यों-ज्यों करीब आ रही है, कांग्रेस पार्टी और इसके नेताओं का जोश बढ़ता जा रहा है. पार्टी ने अपने उम्मीदवार कांतिलाल भूरिया की भारी जीत के लिए प्रदेश सरकार के 10 से ज्यादा मंत्रियों को चुनाव प्रचार में लगा रखा है. उपचुनाव में काम करने के लिए इंदौरी कांग्रेसी नेताओं को समन्वयक बनाकर भेजा गया है, ताकि कहीं कोई कमी न रह जाए और स्थानीय नेताओं के बीच मनमुटाव न उभर सके. सरकार के जिन मंत्रियों ने झाबुआ में डेरा डाल रखा है, उनमें गृह मंत्री बाला बच्चन, सुरेन्द्र सिंह बघेल, तुलसी सिलावट, हर्ष यादव, जीतू पटवारी, कमलेश्वर पटेल, सचिन यादव, विजयलक्ष्मी साधो, जयवर्धन सिंह और सज्जन सिंह वर्मा शामिल हैं. मंत्रियों को काम पर लगाने के साथ-साथ इंदौर के नेताओं पर पार्टी ने विश्वास जताते हुए उन्हें भी झाबुआ में तैनात कर रखा है. कांग्रेस के सभी बड़े पदाधिकारी झाबुआ में आजकल डटे हुए हैं. इंदौर शहर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष विनय बाकलीवाल से लेकर प्रवक्ता संतोष सिंह गौतम तक को झाबुआ उपचुनाव में समन्वय का काम सौंपा गया है.

ये भी पढ़ें -

झाबुआ उपचुनावः कांतिलाल भूरिया से मिलकर बोले BJP प्रत्याशी- काकाश्री ने दिया जीत का आशीर्वाद

झाबुआ के विकास का नया इतिहास बनाने के लिए कांग्रेस को वोट दें- CM कमलनाथ

पाकिस्तान पर बयान देकर फंस गए नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, कांग्रेस ने करायी FIR

झाबुआ उपचुनाव: कमलनाथ के मंत्री जीतू पटवारी का दावा, कांग्रेस ही मारेगी बाजी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज