लाइव टीवी

झाबुआ उपचुनावः जीत के लिए कांग्रेस ने चला 'पोस्टर दांव', भाजपा बोली- मुंगेरीलाल के हसीन सपने न देखें

News18 Madhya Pradesh
Updated: October 5, 2019, 8:12 PM IST
झाबुआ उपचुनावः जीत के लिए कांग्रेस ने चला 'पोस्टर दांव', भाजपा बोली- मुंगेरीलाल के हसीन सपने न देखें
झाबुआ उपचुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस पार्टी की तरफ से जारी किया गया पोस्टर. (फोटो - Facebook)

झाबुआ में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly By-election 2019) के लिए तेज हुई सियासत. कांग्रेस (Congress) पार्टी ने कांतिलाल भूरिया (Kantilal Bhuria) के चुनाव जीतकर मंत्री बनने वाले पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल किए. जवाब में भाजपा (BJP) ने किया जुबानी हमला.

  • Share this:
झाबुआ. आगामी 21 अक्टूबर को झाबुआ में विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly By-election 2019) के लिए मतदान होना है. इस चुनाव के नतीजे 24 अक्टूबर को सबके सामने आएंगे. उपचुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच टक्कर है. कांग्रेस की तरफ से जहां पूर्व सांसद कांतिलाल भूरिया (Kantilal Bhuria) मैदान में हैं, वहीं भाजपा ने युवा चेहरा भानू भूरिया (Bhanu Bhuria) को उतारा है. उपचुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने के आखिरी दिन झाबुआ में काफी गहमा-गहमी देखी गई थी. इसके बाद से ऊपरी तौर पर मामला भले शांत लग रहा हो, लेकिन अंदरखाने इस चुनाव को जीतने के लिए दोनों ही पार्टियां पूरा जोर लगा रही हैं. भाजपा जहां अपने चुनाव अभियान के दौरान कमलनाथ सरकार पर वार करने का कोई मौका नहीं छोड़ रही, वहीं कांग्रेस पार्टी इससे 'आगे की रणनीति' बनाने पर जुटी है. जी हां, झाबुआ में कांग्रेस की ओर से सोशल मीडिया पर इन दिनों कुछ पोस्टर (Poster war) वायरल किए जा रहे हैं, जिसमें कांतिलाल भूरिया के चुनाव जीतने के बाद मंत्री बनने का दावा किया जा रहा है. हालांकि भाजपा ने कांग्रेस की इस रणनीति को 'मुंगेरीलाल के हसीन सपने' कहकर खारिज कर दिया है.

युवा मतदाताओं पर नजर
कांग्रेस पार्टी के लिए झाबुआ उपचुनाव जीतना प्रतिष्ठा बचाने की जंग तो है ही, इसका एक मकसद विधानसभा में पार्टी के विधायकों की संख्या में इजाफा करना भी है. यही वजह है कि झाबुआ में युवा मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर यह 'पोस्टर दांव' आजमाया है. पिछले कुछ दिनों में कांग्रेस पार्टी की तरफ फेसबुक और वाट्सएप पर लगातार ये पोस्टर शेयर किए जा रहे हैं. स्थानीय कांग्रेस नेताओं का मानना है कि झाबुआ उपचुनाव में कांग्रेस का पलड़ा भारी है, इसलिए पार्टी की जीत तय है. कांग्रेस के झाबुआ विधानसभा के आईटी सेल प्रभारी हर्ष जैन ने फेसबुक पर यह पोस्टर शेयर किया है. इसी तरह का एक पोस्टर कांतिलाल भूरिया झाबुआ नाम की आईडी से भी शेयर किया गाय है. कांग्रेस की ओर से बनाए गए कई वाट्सग्रुप में भी इसी तरह के पोस्टर डाले जा रहे हैं.

Jhabua By-election-Congress releases Kantilal Bhuria Poster on Social Media-BJP slams
कांग्रेस के आईटी सेल प्रभारी के फेसबुक अकाउंट से शेयर किए गए हैं पोस्टर. (फोटो - Facebook)


सिर्फ मंत्री नहीं, डिप्टी सीएम की बात
सोशल मीडिया के जरिए चुनावी जंग जीतने की कांग्रेस की रणनीति कितनी कारगर होगी, यह तो चुनाव नतीजों के बाद ही पता चलेगा. लेकिन इन पोस्टरों ने कांग्रेस के स्थानीय नेताओं को जोश से जरूर भर दिया है. इसी जोश में कई कांग्रेस नेता यहां तक चर्चा कर रहे हैं कि कांतिलाल भूरिया को चुनाव जीतने के बाद कमलनाथ सरकार में सिर्फ मंत्री पद नहीं, बल्कि डिप्टी सीएम या गृह मंत्री जैसा अहम पद भी दिया जा सकता है. नेताओं की आपसी चर्चा में यह बात आजकल खूब चर्चा में है कि चूंकि भूरिया वरिष्ठ नेता हैं, इसलिए चुनाव में जीतने के बाद उन्हें सरकार में अहम पद दिया जाना स्वाभाविक है. बहरहाल, अटकलों से चुनाव जीते नहीं जाते, लेकिन प्रचार के दौरान कई बार ऐसी कोशिशें सकारात्मक नतीजे देती है. कांग्रेस इसी सोच के साथ झाबुआ में चुनाव प्रचार को धार देती नजर आ रही है.

भाजपा ने कहा- सपने न देखे कांग्रेस
Loading...

एक तरफ जहां कांग्रेस पार्टी को अपने 'पोस्टर दांव' पर पूरा भरोसा है, वहीं विपक्षी भाजपा इसे दिवा-स्वप्न करार दे रही है. झाबुआ के भाजपा नेताओं ने कांग्रेस के 'पोस्टर दांव' को लेकर कहा कि कांतिलाल भूरिया और उनकी टीम 'मुंगेरीलाल के हसीन सपने' देख रही है. 24 अक्टूबर को जब चुनाव के नतीजे सामने आएंगे, तब इस दावे की हकीकत का पता चल जाएगा. भाजपा नेताओं ने कांतिलाल भूरिया को सरकार में मंत्री पद दिए जाने को लेकर भी सवाल उठाया. नेताओं ने कहा कि कमलनाथ सरकार में पहले से ही मंत्री बनने की रस्साकशी जारी है. ऐसे में कांतिलाल भूरिया अगर चुनाव जीत भी जाते हैं, तो उन्हें कहां एडजस्ट किया जाएगा? क्या मंत्री पद की आस लगाए बैठे दूसरे विधायक इसे बर्दाश्त करेंगे? खैर, भाजपा और कांग्रेस के इन दावों के बीच झाबुआ के मतदाताओं को 24 अक्टूबर का इंतजार है, जिस दिन उपचुनाव के नतीजों की घोषणा होगी.

(रिपोर्ट - Virendra Singh Rathore)

ये भी पढ़ें -

झाबुआ उपचुनाव: भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष का दावा, भानू भूरिया ही मारेंगे बाजी

पाकिस्तान पर बयान देकर फंस गए नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, कांग्रेस ने करायी FIR

झाबुआ के विकास का नया इतिहास बनाने के लिए कांग्रेस को वोट दें- CM कमलनाथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झाबुआ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 8:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...