अपना शहर चुनें

States

महेन्द्र सिंह धोनी का कड़कनाथ मुर्गा पालने से तौबा! कैंसिल किया 2000 चूजों का ऑर्डर

महेन्द्र सिंह धोनी ने झाबुआ से कड़कनाथ मुर्गे का आर्डर किया था.
महेन्द्र सिंह धोनी ने झाबुआ से कड़कनाथ मुर्गे का आर्डर किया था.

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket) के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) अब कड़कनाथ मुर्गा नहीं पालेंगे. धोनी ने बर्ड फ्लू (Bird Flu) के चलते ये निर्णय लिया है.

  • Share this:
झाबुआ. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket) के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) अब कड़कनाथ मुर्गा नहीं पालेंगे. धोनी ने बर्ड फ्लू (Bird Flu) के चलते यह निर्णय लिया है. साथ ही मध्य प्रदेश के झाबुआ में निजी पोल्ट्री फार्म संचालक को दिए 2000 हजार चूजों का आर्डर कैंसिल कर दिया है. झाबुआ जिले के थांदला के पास रूंडीपाड़ा के पास एक पोल्ट्री फॉर्म में उनके आर्डर पर चूजे पाले जा रहे थे, लेकिन उनमें बीते मंगलवार को ही बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई थी. इसके बाद सुरक्षा कारणों से धोनी ने आर्डर कैंसिल कर दिया है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, झारखंड समेत देश के अधिकतर हिस्सों में भी बर्ड फ्लू का प्रकोप देखा जा रहा है. झाबुआ में बर्ड फ्लू संक्रमण के केस की पुष्टि हो चुकी है. इसके चलते एक किलोमीटर के दायरे में बर्ड डिस्पोजल का काम बीते बुधवार से ही शुरू कर दिया गया है. इस इलाके के मुर्गे-मुर्गियों को हल्का एनेस्थेसिया देकर, फिर उन्हें मारकर गहरे गड्‌ढे में दफनाने की प्रक्रिया की जा रही है. 15 कर्मचारियों की टीम ने यह काम बुधवार से ही शुरू कर दिया.





लगातार हो रही चूजों की मौत
झाबुआ के पोल्ट्री फार्म संचालक विनोद को ही धोनी ने कड़कनाथ मुर्गों का आर्डर दिया था. विनोद ने बताया बीते 4 दिनों से मुर्गों के मरने के सिलसिला जारी है. डिप्टी डायरेक्टर पशुपालन विभाग विल्सन डावर ने भी संक्रमण होने की पुष्टि की है. वे टीम के साथ फार्म पहुंचे. टीम ने गांव के पास नाले के किनारे जेसीबी से गड्‌ढा कराया. इसमें ही चूजों को दफनाने की प्रक्रिया की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज