नन्हें हिमांशु ने सीएम कमलनाथ को लिखी चिट्ठी- DJ के शोर में हम पढ़ नहीं पाते...

हिमांशु ने लिखा है-हमारे देश में डीजे का साउंड अधिक है. इससे डीजे के शोर से पर्यावरण को भी नुक़सान होता है, इसलिए इस पर रोक लगायी जाए और हमारे जीव-जंतु पशु-पक्षी को मरने से बचाएं.

Virender Singh | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 14, 2019, 1:47 PM IST
नन्हें हिमांशु ने सीएम कमलनाथ को लिखी चिट्ठी- DJ के शोर में हम पढ़ नहीं पाते...
हिमांशु सोनी ने सीएम को लिखी चिट्ठी
Virender Singh | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 14, 2019, 1:47 PM IST
शादी और तीज-त्योहार का मौसम है. हर तरफ गाजे-बाजे,डीजे और ढोल-ढमाके बज रहे हैं. लेकिन ये मौसम परीक्षाओं का भी है. डीजे के शोर ने झाबुआ के एक नन्हें छात्र को इतना परेशान कर दिया कि उसे सीएम कमलनाथ को चिट्ठी लिखना पड़ी. बच्चा तीसरी क्लास में पढ़ता है.

डीजे के कानफोडू शोर पर शादी में मस्ती और नाच-गाना युवाओं की पहली पसंद है. लेकिन अगर सिर पर परीक्षा हों और पढ़ाई करना पड़े तो यही डीजे सिरदर्द बन जाता है. झाबुआ का एक नन्हा छात्र हिमांशु सोनी डीजे के शोर से परेशान हो उठा. अब उसने सीएम कमलनाथ को चिट्ठी लिखी है. हिमांशु झाबुआ के मदरानी गांव का रहने वाला है. उसने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि रात 10 बजे के बाद प्रतिबंध के बाद भी डीजे बजता रहता है. उसके शोर से परेशानी होती है. हम ना पढ़ पाते हैं और ना सो पाते हैं. हमारा मस्तिष्क दुखने लगता है.


हिमांशु ने आगे लिखा है-हमारे देश में डीजे का साउंड अधिक है. इससे डीजे के शोर से पर्यावरण को भी नुक़सान होता है, इसलिए इस पर रोक लगायी जाए और हमारे जीव-जंतु पशु-पक्षी को मरने से बचाएं.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का घर टूटेगा! 16 तारीख़ को चलेंगे छैनी-हथौड़े



सुर्ख़ियां : 20 लाख किसानों को पहले चरण में कर्ज़माफी और मौसम फिर लेगा करवट

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी
Loading...


Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...