अपना शहर चुनें

States

ट्रैक्टर चलाकर रैली में पहुंचे कमलनाथ, बोले- उद्योगपतियों को मंडी का दर्जा दे रही सरकार

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ट्रैक्टर लेकर किसानों के बीच पहुंचे और किसानों का समर्थन किया.
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ट्रैक्टर लेकर किसानों के बीच पहुंचे और किसानों का समर्थन किया.

भोपाल (Bhopal) के बाद इंदौर के देपालपुर में कांग्रेस (Congress) ने एक बड़ी ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) की, जिसमें पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath) समेत मालवा निमाड़ के कांग्रेस विधायक और कार्यकर्ता शामिल हुए. इसमें कमलनाथ खुद ट्रैक्टर चलाकर सभास्थल तक पहुंचे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2021, 9:30 PM IST
  • Share this:
इंदौर. केंद्र सरकार द्वारा लाये गए नए कृषि कानून (Agricultural law) पर सिंघु बॉर्डर से लेकर देशभर में हंगामा मचा है. विपक्षी दल भी आक्रामक होते जा रहे हैं. भोपाल (Bhopal) के बाद इंदौर के देपालपुर में कांग्रेस (Congress) ने एक बड़ी ट्रैक्टर रैली की, जिसमें पूर्व सीएम कमलनाथ (Former CM Kamal Nath) समेत मालवा निमाड़ के कांग्रेस विधायक और कार्यकर्ता शामिल हुए. इसमें कमलनाथ खुद ट्रैक्टर चलाकर सभास्थल तक पहुंचे. उनके साथ विधायक विशाल पटेल, सज्जन सिंह वर्मा,जीतू पटवारी,संजय शुक्ला भी सवार थे.

किसानों के समर्थन में कांग्रेस ने भोपाल के बाद अब इंदौर के देपालपुर में बड़ा विरोध प्रदर्शन किया. करीब 2 हजार ट्रैक्टरों के साथ कांग्रेस नेताओं ने रैली निकाली. इसमें पूर्व सीएम कमलनाथ भी 24 अवतार मंदिर से सभा स्थल तक ट्रैक्टर पर सवार होकर पहुंचे. पूर्व विधायक अंतर सिंह दरबार ने आलू की माला पहनाकर कमलनाथ का स्वागत किया. इस रैली का आयोजन देपालपुर के युवा कांग्रेस विधायक विशाल पटेल ने किया जिसमें बड़ी संख्या में किसान भी शामिल हुए.

जूडो-कराटे की ट्रेनिंग के साथ बेटियों को मिलें शस्त्र लाइसेंस: शिवराज सिंह



विधायक विशाल पटेल ने कहा कि कांग्रेस किसान हितैषी पार्टी है और कमलनाथ के मुख्यमंत्री रहने के दौरान किसानों की कर्जमाफी हुई. उनके कार्यकाल के दौरान हर वर्ग का व्यक्ति खुशहाल था. चाहे वो व्यापारी हो, किसान हो या गरीब हो सभी खुश थे . महिलाओं के खिलाफ अत्याचार भी कम हो गए थे, लेकिन अब इन सबकी परेशानियां बढ़ गईं हैं. उन्होंने कहा कि कमलनाथ संवेदनशील व्यक्ति हैं, उनसे जब बात हुई तो उन्होंने कहा कि मंच पर छाया मत करना , क्योंकि जब हमारे किसान भाई धूप में ट्रेक्टर के उपर और सभा स्थल पर धूप में बैठेंगे तो हम भी उनके साथ धूप में बैठेंगे.
24 अवतार मंदिर में पूजा के बाद सभास्थल पहुंचे कमलनाथ

किसान रैली को संबोधित करने पहुंचे कमलनाथ ने सबसे पहले 24 अवतार मंदिर में पूजा अर्चना की. उसके बाद खुद ट्रैक्टर चलाकर सभास्थल तक पहुंचे . प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने केंद्र सरकार और राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि ये कानून हमारे कृषि क्षेत्र का निजीकरण है. अब बड़े -बडे़ उद्योगपतियों को मंडी का दर्जा मिल जाएगा.

Balaghat News: मादा तेंदुआ और बच्चे का शव मिलने से हड़कंप, जहर देने की आशंका

वो किसान के खेत में जाएंगे और फसल की मनमानी कीमत लगाएंगे. किसानों को मजबूर होकर अपनी फसल इन्हें बेचनी पड़ेगी और समर्थन मूल्य की संभावना ही खत्म हो जाएगी. किसान उद्योगपतियों का गुलाम हो जाएगा. उन्होने कहा कि जब किसान इस कानून को नहीं चाहता तो सरकार क्यों जबरन उन पर ये कानून थोप रही है.

भाजपा राममंदिर के नाम पर चंदा उगा रही, पीछे से पेट्रोल के दाम बढ़ा रही

बीजेपी पर हमला बोलते हुए कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी हमेशा ध्यान मोड़ने की राजनीति करती है 2014 में युवाओं को रोजगार की बात करते थे. 2019 में पाकिस्तान और राष्ट्रवाद की बात करने लगे. ये लोग कांग्रेस से राष्ट्रवाद की परिभाषा पूछते हैं, जबकि इनकी पार्टी में कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तक नहीं रहा. बीजेपी वाले राष्ट्रवाद के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं. राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा उगा रहे हैं और पीछे से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा रहे हैं. आप गुमराह और भ्रमित करने की राजनीति पहचानिए.

इस दौरान कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी नहीं छोडा़ उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह जब तक झूठ न बोलें उनका खाना नहीं पचता. उनकी 15 हजार घोषणाएं अभी तक पूरी नहीं हुईं इसलिए आप कमलनाथ और विशाल पटेल का साथ मत दीजिए. लेकिन आप लोग सच्चाई का साथ जरूर दीजिए. अभी पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव में आप लोग कांग्रेस का सहयोग करें.

सज्जन सिंह ने की नरेंद्र सिंह तोमर पर विवादित टिप्पणी

इस रैली में पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने मंच से एक विवादित बयान दे दिया. उन्होंने कहा कि ये 'हमारा दुर्भाग्य है कि हमारे ही प्रदेश का नरेन्द्र सिंह तोमर देश का कृषि मंत्री है. नरेंद्र सिंह तोमर तुमसे बेहतर तो वो महिला है बादल की बहू हरसिमरत कौर हैं. जिसने काले कृषि कानूनों के विरोध में केन्द्रीय मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. तू मर्द है या वो असली मर्द है. आंकलन कर लेना.'

देपालपुर में आयोजित इस रैली के लिए प्रत्येक ब्लॉक में कांग्रेस नेताओं को किसानों के साथ दो-दो सौ ट्रैक्टर लाने का टारगेट दिया गया था. इसी हिसाब से करीब 2 हजार ट्रैक्टर देपालपुर पहुंचे. कांग्रेस ने इसे सफल आयोजन बताया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज