अपना शहर चुनें

States

नशे में धुत स्कूल के चपरासी ने छात्रों को जमकर पीटा, हुआ सस्पेंड

स्कूल का चपरासी जयप्रकाश मिश्रा बच्चों के क्लास रूम में नशे में दाखिल हो गया और टीचर की कुर्सी पर जा बैठा. इसके बाद वह एक के बाद एक बच्चों को खुद के पास बुलाकर पीटने लगा. इसमें उसकी मदद बीईओ कार्यालय का चपरासी संजय मार्को कर रहा था.

  • Share this:
कटनी के बड़वारा गांव के बालक माध्यमिक स्कूल में एक ऐसी घटना पेश आई जिसे लेकर अब बवाल होने लगा है. दरअसल इस स्कूल के चपरासी ने क्लास के बच्चों की जमकर पिटाई की थी. इस पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद से बच्चों के अविभावक के साथ ही समाज के लोगों में काफी आक्रोश देखने को मिल रहा है. इस घटना के पीछे स्कूल के प्रधानाध्यापक और अतिथि टीचर की भूमिका शक के दायरे में आ गई है. स्कूल के बच्चों की पिटाई का वीडियो देखने के तुरंत बाद शिक्षा विभाग ने आरोपी चपरासी को सस्पेंड कर दिया है. बताया जा रहा कि नशे में चूर चपरासी जब बच्चों को पीटे जा रहा था तब टीचर क्लास रूम में मौजूद नहीं थे. सवाल उठ रहा है कि तब टीचर कहां थे.

मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को स्कूल का चपरासी जयप्रकाश मिश्रा उर्फ मीणा मिश्रा बच्चों के क्लास रूम में नशे में दाखिल हो गया और टीचर की कुर्सी पर जा बैठा. तब टीचर क्लास रूम में नहीं थे. इतना ही नहीं, इसके बाद चपरासी एक के बाद एक बच्चों को खुद के पास बुलाकर पीटने लगा. इसमें उसकी मदद बीईओ कार्यालय का चपरासी संजय मार्को कर रहा था. लेकिन जब पिटाई का वीडियो वायरल हो गया तब जिले के कलेक्टर ने इसका तुरंत संज्ञान लिया. उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी बी.बी. दूबे को निर्देश दिया कि वे चपरासी जयप्रकाश मिश्रा को तुरंत सस्पेंड कर दें.

स्कूल कैंपस में ही पी थी शराब



स्कूल का चपरासी जयप्रकाश उर्फ मीणा मिश्रा और बीईओ कार्यालय का चपरासी संजय मार्को ने स्कूल कैंपस में ही शराब पी थी.

बताया जा रहा है कि बच्चों की पिटाई करने से पहले स्कूल का चपरासी जयप्रकाश उर्फ मीणा मिश्रा और बीईओ कार्यालय का चपरासी संजय मार्को ने स्कूल कैंपस में ही शराब पी थी. इसके बाद ही चपरासी जयप्रकाश ने अपना होश खो दिया. वह यहां से सीधे बच्चों के क्लास रूम में दाखिल हो गया और टीचर की परवाह किए बिना ही बच्चों को पीटने लगा. बच्चों को पीटने से पहले वह उन्हें ये कहकर डांट रहा था कि उनके बाल बड़े हैं, उन्होंने बाल नहीं संवारे हैं और स्कूल ड्रेस भी नहीं पहने हैं. इस घटना का वीडियो देखने के बाद ही जिला शिक्षा अधिकारी ने जांच के लिए एक टीम स्कूल में भेजी. जब बच्चों ने घटना की पुष्टि कर दी तब चपरासी को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया.

ये भी पढ़ें - यह रहस्यमयी रास्ता नागलोक को जाता है, पूर्ण होती है मनोकामना

5 साल की शिविका टाइगर की दीवानी, देखे हैं देशभर के बाघ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज