होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Students Protest: आखिर ऐसा क्या हुआ कि छात्राओं को वॉटर कैनन से खदेड़ने की आई नौबत?

Students Protest: आखिर ऐसा क्या हुआ कि छात्राओं को वॉटर कैनन से खदेड़ने की आई नौबत?

मध्य प्रदेश के कटनी ज़िले के सरकारी कॉलेज का मामला जानकर आप भी चौंक सकते हैं. एक तो छात्राओं को मनमाने ढंग से फेल कर दि ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – यश खरे

    कटनी. शासकीय महिला कॉलेज की छात्राएं आखिर इतने गुस्से में क्यों हैं? कारण जानकर आप भी सोच में पड़ जाएंगे क्योंकि अपने भविष्य को लेकर चिंतित छात्राओं का रिजल्ट आया तो सभी आगबबूला हो गईं. महिला कॉलेज के बीए और बीकॉम के प्रथम वर्ष के रिजल्ट में 446 छात्राओं के रिजल्ट में भारी गड़बड़ी हुई. कई छात्राओं के इंटरनल एग्जाम के नंबर रिजल्ट में नहीं चढ़ने के कारण सप्लीमेंट्री परीक्षा देने पर बाध्य किया गया. यही नहीं, जब वे सप्लीमेंट्री सुधारने के लिए आवेदन देने गईं तो सुधार के बजाय पुनरीक्षित रिजल्ट घोषित होने पर उन्हें एक की जगह दो सब्जेक्ट में सप्लीमेंट्री का रिजल्ट थमा दिया गया. इसके बाद छात्राएं आपे से बाहर हो गईं.

    एक नाराज़ छात्रा श्रेया दहिया ने आरोप लगाया कि कॉलेज में पढ़ाई ही नहीं होती और हम लोग अपने स्तर पर पढ़कर आए. फिर भी हम लोगों को पहले रिजल्ट में एक सब्जेक्ट में फेल किया गया, रीचेकिंग के दौरान 2 सब्जेक्ट में फेल कर दिया गया. यह कॉलेज प्रशासन की मनमानी है. इस बारे में महाविद्यालय के प्राचार्य का जवाब था कि उन्हें कुछ नहीं मालूम कि आखिर ऐसा रिजल्ट क्यों आया. छात्राओं का कहना था कि अब आप खुद सोच लीजिए कि जब प्राचार्य ही रिजल्ट को लेकर कुछ बोलने से बच रहे हैं तो फिर छात्राओं के भविष्य का क्या होगा.

    छात्राओं के समर्थन में उतरा NSUI

    छात्राओं के साथ उनकी परेशानियों को लेकर राष्ट्रीय छात्र संगठन यानी एनएसयूआई सड़कों पर उतर कर उनके साथ प्रदर्शन करता दिखाई दिया. जब छात्राएं सड़कों पर उतर कर धरना प्रदर्शन कर रही थीं तो पुलिस ने वाटर कैनन का प्रयोग करके उन्हें वहां से खदेड़ने का भी प्रयास किया, जिसके चलते छात्राएं और भी आक्रोशित हो गईं. बाद में पुलिस ने किसी तरह समझा बुझाकर छात्राओं को घर भेजा.

    Tags: Government College, Katni news, Protest

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें