जीवनदायिनी नर्मदा नदी में 'मौत का शनिवार', अलग-अलग हादसों में पांच लोगों की मौत

मध्य प्रदेश की जीवनदायिनी नर्मदा नदी में शनिवार का दिन हादसों के नाम रहा. प्रदेश में तीन अलग-अलग हादसों में पांच लोगों की नदी में डूबने से मौत हो गई.
मध्य प्रदेश की जीवनदायिनी नर्मदा नदी में शनिवार का दिन हादसों के नाम रहा. प्रदेश में तीन अलग-अलग हादसों में पांच लोगों की नदी में डूबने से मौत हो गई.

मध्य प्रदेश की जीवनदायिनी नर्मदा नदी में शनिवार का दिन हादसों के नाम रहा. प्रदेश में तीन अलग-अलग हादसों में पांच लोगों की नदी में डूबने से मौत हो गई.

  • Share this:
मध्य प्रदेश की जीवनदायिनी नर्मदा नदी में शनिवार का दिन हादसों के नाम रहा. प्रदेश में तीन अलग-अलग हादसों में पांच लोगों की नदी में डूबने से मौत हो गई.

पहला हादसा प्रदेश के खंडवा जिले की धार्मिक नगरी ओंकारेश्वर में हुआ. यहां नर्मदा नदी में नहाने के दौरान 35 वर्षीय मनीषा और उसका 15 साल का बेटा मयूर और परिवार के दो अन्य सदस्य गहरे पानी में चले गए. उन्हें पानी की गहराई का अंदाजा नहीं रहा और चारों डूबने लगे.

नदी किनारे पर मौजूद गोताखोरों ने परिवार के दो सदस्यों को सुरक्षित बचा लिया, लेकिन जब तक मनीषा और मयूर को पानी से बाहर निकाला जाता दोनों की मौत हो चुकी थी.



इसी तरह प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में नर्मदा नदी में नाव पलटने से दो लोगों की मौत हो गई. यह हादसा 'सांईखेड़ा' थाने के संदूक घाट पर हुआ. शनिवार दोपहर को नर्मदा नदी पार करते वक्त अचानक नाव पलट गई. इस हादसे में गबना और गुंतीलाल बरौआ की मौत हो गई, जबकि नाव में सवार बाकी लोगों को बचा लिया गया.
वहीं, होशंगाबाद शहर में सेठानी घाट पर नागपुर के सांवेर निवासी रविंद्र राव पाटिल की डूबने से मौत हो गई. रविंद्र के पिता की भी हाल ही में मौत हुई थी. वह अपने पिता का दसवां करने के लिए सेठानी घाट पर आया था. इस दौरान यह हादसा हो गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज