लाइव टीवी

कलर प्रिंटर से 200 रुपए के नकली नोट छापने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 3 गिरफ्तार
Khandwa News in Hindi

Harendra Nath Thakur | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 24, 2019, 9:27 AM IST
कलर प्रिंटर से 200 रुपए के नकली नोट छापने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 3 गिरफ्तार
आरोपी नकली नोट को असली नोटों के बीच मिलाकर बाजार में चला रहे थे (सांकेतिक तस्वीर)

मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में पुलिस ने कलर प्रिंटर से नकली नोट बनाकर बाजार में चलाने वाले एक गिरोह के तीन आरोपियों को धर धबोचा है.

  • Share this:
खंडवा. मध्य प्रदेश के खंडवा (Khandwa) जिले में पुलिस ने कलर प्रिंटर से नकली नोट (Fake currency) छापकर बाजार (Market) में चलाने वाले एक गिरोह के तीन आरोपियों को पकड़ा है. पुलिस ने बताया कि यह गिरोह पिछले कुछ समय से 200 रूपए के नोट की कलर फोटो कॉपी (Color Photo Copy) निकालकर असली नोटों के बीच मिलाकर बाजार में चला रहे थे. फिलहाल, पुलिस (Kandwa Police) सभी आरोपियों से पूछताछ में जुटी है.

आरोपी घर पर ही छापते थे नकली नोट

दरअसल, पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि एक युवक नकली नोट लेकर पडावा स्थित शराब दुकान पर शराब लेने आने वाला है. मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने जाल बिछाया और दुबे कॉलोनी निवासी किशोर सोनी को रंगे हाथों पकड़ लिया. किशोर ने बताया कि रमा कालोनी निवासी कारन रील ने उसे यह नोट बाजार में चलाने के लिए दिए थे. उसने यह भी बताया कि उनका एक साथी गोपाल नकली नोट छापने का काम करता है. पुलिस ने तुरंत ही खंडवा जिला अस्पताल (Khandwa District Hospital) में एक्स-रे करने वाले कर्मचारी गोपाल जोशी को भी गिरफ्तार किया है, जो खुद कलर प्रिंटर मशीन से 200 रु. के नकली नोट अपने घर पर ही छापा करता था. वहीं पदम नगर पुलिस ने गोपाल के साथ कारन रील को भी हिरासत में लिया है.

पुलिस ने मुखबिर के सूचना पर कार्रवाई कर तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार
पुलिस ने मुखबिर के सूचना पर कार्रवाई कर तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार


कर्ज से उबरने के लिए नकली नोट छापने का बनाया था प्लान 

पुलिस ने आरोपी गोपाल के पास से कार्रवाई के दौरान 200 रुपए के 4 नकली नोट भी बरामद किए हैं. पूछताछ में गोपाल ने बताया है कि वह  सट्टा खेलने का आदी है, जिसकी वजह से वह कर्ज में डूब गया था. कर्ज  में होने के कारण उसने नकली नोट बनाने की योजना बनाई. योजना के अनुसार वह एक कलर प्रिंटर नोट काटने के लिए नोट कटर  लेकर आया और 200 रुपए के नकली नोट छापने लगा. आरोपी ने बताया कि नकली नोट छापने का काम वह करीब ढाई महीने से कर रहा था और अब तक वह 15000 रुपए से अधिक के नकली नोट छाप कर बाजार में चला चुका है. पुलिस ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया है.

यह भी पढ़ें- 1984 सिख विरोधी दंगा: SIT के सामने पेश हुआ गवाह, कहा- कमलनाथ के खिलाफ गवाही देने को तैयारयह भी पढ़ें- हनी ट्रैप केस : इंजीनियर को ब्लैकमेल करने वाली युवती को भोपाल लेकर पहुंची इंदौर पुलिस, कर रही है ये जांच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खंडवा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 24, 2019, 8:02 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर