नियमों की अनदेखी : महिला बाल विकास विभाग के परिसर में जलाए गए सरकारी दस्तावेज

इन दस्तावेजों में कुछ दस्तावेज साल 2014 के व्यापम घोटाले से जुड़े हुए थे. फिलहाल इन दस्तावेजों को जलाने के कारणों का पता नही चल पाया है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के खंडवा में महिला बाल विकास विभाग के परिसर में बीती रात चोरी-चुपके सरकारी दस्तावेज जलाने का मामला सामने आया है. आरोप है कि इन दस्तावेजों में कुछ साल 2014 के व्यापम घोटाले से जुड़े हुए थे.  फिलहाल इन दस्तावेजों को जलाने के कारणों का पता नही चल पाया है.

नियमों की अनदेखी करके ये दस्तावेज जलाए गए हैं. रात के अंधेरे में इन दस्तावेजों को आग के हवाले करने की वजह से प्रशासन के मंशे पर सवालिया निशान लग रहे हैं. कायदे की बात करे तों किसी भी सरकारी दस्तावेज के नष्ट करने की एक प्रक्रिया होती है. एक नश्चित अवधि के बाद ही तय प्रक्रिया अपनाकर उसे नष्ट किया जा सकता है.

ऐसे में यहां किसके आदेश से इन पुराने सरकारी दस्तावेजों को जलाया जा रहा था, इसका जवाब फ़िलहाल कोई भी अधिकारी-कर्मचारी नही दे रहा है. आपको बता दें की अभी एक पखवाडा पहले भी स्कूलों और आंगनबाडी केंद्रों में बच्चों को बांटने के लिए मिलने  वाले दूध के सैकड़ों पैकेट को जलाया गया था. इस मामले की भी अभीतक जांच चल रही है.



ये भी पढ़ें- खुलासा : 700 दिन कराई मजदूरी, फिर भी मांग रहे थे उधारी के 2 हजार रुपए...कर दी हत्या
ये भी पढ़ें- महिला SI के साथ दुष्कर्म व गर्भपात कराने वाले फरार ASI पर 10,000 का इनाम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज