एमपी गजब है! जजों ने अदालत में गाने गाकर टूटते घरों को फिर से बसाया
Khandwa News in Hindi

संगीत ने हमेशा ही दिलों को जोड़ने का काम किया है. इसकी एक बानगी शनिवार को मध्य प्रदेश के खंडवा में उस वक्त देखने को मिली जब दो जजों ने संगीत की मदद से कई परिवारों को टूटने से बचा लिया.

  • Share this:
संगीत ने हमेशा ही दिलों को जोड़ने का काम किया है. इसकी एक बानगी शनिवार को मध्य प्रदेश के खंडवा में उस वक्त देखने को मिली जब दो जजों ने संगीत की मदद से कई परिवारों को टूटने से बचा लिया.

दरअसल, खंडवा में आयोजित नेशनल लोक अदालत में न्यायधीशों ने खुद संगीत की तान छेड़कर न केवल वर्षों से बिछड़े कई परिवारों को फिर से मिलाया बल्कि इनके बीच के सभी गिले-सिकवे भी खत्म करवाए.

जानकारी के अनुसार, शनिवार को नेशनल लोक अदालत में पति-पत्नी के बीच तलाक के कई प्रकरण थे, जिसमें खंडवा के डी.जे. और कुटुंब न्यायालय ए.के. सिंह के न्यायधीश को फैसला सुनाना था. जजों ने तलाक के प्रकरण पर फैसला सुनाने से पहले कोर्ट में तलाक लेने पहुंचे दम्पतियों को मिलकर फिर से एक रहने की सलाह दी. इस दौरान दोनों जजों ने कोर्ट रूम में ही खुद गाने गाकर तलाक लेने पहुंचे पति-पत्नी को मिलकर साथ रहने की गुजारिश की.



जजों की गुजारिश और संगीत के जादू दोनों ने अपना असर दिखाना शुरू किया और एक दूसरे के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ रहे दम्पति खुशी-खुशी एक हो गए और साथ-साथ जीवन बिताने की कसम खाते हुए अपना मुकदमा वापस ले लिया,
जी हां, कल तक अदालत के कटघरे में खड़े होकर एक दूसरे के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाले दम्पति आज एक दूसरे के लिए संगीत की तान छेड़ रहे थे. इस माहौल को जिसने भी देखा सबने न्यायधीशों के इस न्याय की जमकर सराहना की. सभी दम्पतियों ने एक दूसरे को फिर से वरमाला पहनाईं. जजों से आशीर्वाद लिए और खुशी-खुशी साथ रहने के वादे लेकर कोर्ट से अपनी जीवन संगिनी के साथ घर की ओर रुख किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading