इस थाने में बजरंग बली खुद हैं थानेदार
Khandwa News in Hindi

इस थाने में बजरंग बली खुद हैं थानेदार
भगवान हनुमान के दर्शन करते पुलिसकर्मी.

खंडवा जिले का मोघट थाना एक ऐसा थाना है जिसके बारे में कहा जाता है कि इस थाने को कोई थानेदार नहीं बल्कि खुद हनुमान जी चलाते हैं. लोगों में धारणा है कि बजरंग बली यहां थाना प्रभारी है. यहां तक की थाने में पदस्थ अधिकारी भी जन मान्यता और श्रद्धा के चलते अपनी कुर्सी मारुति के लिए खाली छोड़ देते हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के खंडवा जिले का मोघट थाना एक ऐसा थाना है जिसके बारे में कहा जाता है कि इस थाने को कोई थानेदार नहीं बल्कि खुद हनुमान जी चलाते हैं. लोगों में धारणा है कि बजरंग बली यहां थाना प्रभारी है. यहां तक की थाने में पदस्थ अधिकारी भी जन मान्यता और श्रद्धा के चलते अपनी कुर्सी मारुति के लिए खाली छोड़ देते हैं. इलाके में ये धारणा कब और कैसे बने इसके पीछे भी एक दिलचस्प किस्सा है.

दरअसल, जिसे स्थान पर वर्तमान में मोघट थाना बना हुआ है, वहां पहले शमशान हुआ करता था. इस थाने के निर्माण के बाद से ही यहां संकट के बादल मंडराते रहते थे. मोघट थाना इलाके में अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहा था. यहां पदस्थ पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों पर भी मुसीबत बनी रहती थी. कई कर्मचारी सस्पेंशन, डिपार्टमेंटल इनक्वायरी, लाइन अटैच जैसी समस्याओं से जूझते रहते थे.

ऐसे में किसी ने थाना परिसर में बजरंग बली का मंदिर स्थापित करने की सलाह दी. देखते ही देखते थाना परिसर में हनुमान जी के छोटे से मंदिर की स्थापना हो गई. बजरंग बली के स्थापित होते ही जैसे थाने के दिन फिर गए. इस थाने और पुलिसकर्मियों पर आने वाले संकट टलने लगे.  इलाके में अपराध के ग्राफ में भी कमी आने लगी.



तभी से इस थाने में संकटमोचन हनुमान की नियमित पूचा-अर्चना की जाती है. बड़े से बड़ा अधिकारी भी थाने में घुसने से पहले बजरंग बली को सैल्यूट मारना नहीं भूलता. हनुमान जयंती के मौके पर तो थाने का स्टाफ यहां विशाल भंडारे का आयोजन करता है. खास बात ये है कि हनुमान जयंती के दिन कभी भी पूरे थाना इलाके में कोई अपराध घटित नहीं हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज