MP News: कोरोना मरीज और घरवालों की पुलिसकर्मियों ने बेरहमी से पिटाई, महिला पर भी बरसाईं लाठियां

मध्य प्रदेश के खंडवा में पुलिस ने बर्बरता की सारी हदें लाघीं.

मध्य प्रदेश के खंडवा में पुलिस ने बर्बरता की सारी हदें लाघीं.

Madhya Pradesh News: खंडवा में पुलिस द्वारा कोरोना पेशेंट और उनके घरवालों की पिटाई करने का आरोप लगा है. पुलिस अधीक्षक ने इस मामले में कार्रवाई भी की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 11:37 AM IST
  • Share this:
खंडवा. पुलिस संवेदनहीनता का एक और मामला सामने आया है. मध्य प्रदेश के खंडवा में पुलिस टीम एक कोरोना संक्रमित मरीज के घर पहुंची. यहां विवाद बढ़ने पर पुलिसकर्मियों ने मरीज पर डंडे बरसाने शुरू कर दिए. इस बीच जब माता-पिता और बहन ने बीच बचाव करना चाहा तो पुलिस उन पर भी टूट पड़ी.

पुलिस ने सभी के खिलाफ गंभीर धाराओं में मामले भी दर्ज कर दिए. मामला सामने आने के बाद SP ने टीआई गणपतलाल कनेल को लाइन अटैच कर दिया. विधायक राम दांगोरे ने भी कहा कि इसकी जानकारी सीएम को देंगे और सभी आरोपी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करवाएंगे.

परिजनों की स्वास्थ्य विभाग की टीम से बहस

जानकारी के मुताबिक, घटना खंडवा के थाना छैंगांवमाखन के गांव सिरसोद बंजारी की है. यहां चार दिन पहले स्वास्थ्य विभाग की टीम श्री राम पटेल के घर पहुंची. टीम उनके बेटे ललित का सैंपल लेने आई थी. सैंपल की रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि हुई. इसके बाद टीम ललित को लेने के लिए घर पहुंची. इस पर घरवालों न कहा कि बेटा घर पर रहकर ही स्वस्थ हो जाएगा, क्योंकि संक्रमित युवक की मां लक्ष्मीबाई खुद आशा कार्यकर्ता हैं.
Youtube Video


हमारे साथ हाथापाई की गई- पुलिस

इसी बात पर स्वास्थ्यकर्मियों और परिजनों में कहासुनी हो गई. मामला बढ़ने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पुलिस को सूचना दे दी. आरोप है कि मौके पर पहुंची पुलिस ने संक्रमित युवक और परिजन को घर से निकाला और लाठियों से पीटना शुरू कर दिया. किसी ने इस घटना का मोबाइल से वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया. वहीं, पुलिस का कहना है कि उनके साथ हाथापाई की गई. इसके बाद उन्होंने डंडे मारे.



पुलिस ने दर्ज किए केस

पुलिस ने छैगांवमाखन स्वास्थ्य केंद्र की डॉ. अपूर्वा कुशवाह ने संक्रमित युवक व उसके परिजन के खिलाफ शिकायत दी. इस पर पुलिस ने युवक ललित समेत उसके पिता श्रीराम पटेल, माता लक्ष्मीबाई व बहन रानू सभी निवासी ग्राम बंजारी पर आईपीसी की धारा 353, 332, 342, 34, 506, 294, 188 और आपदा प्रबंधन की धारा 52 के तहत केस दर्ज किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज