लाइव टीवी

अगर किन्नर आपके घर आएं तो ध्यान से सुनिए उनकी बात...

Harendra Nath Thakur | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 12, 2019, 11:20 AM IST
अगर किन्नर आपके घर आएं तो ध्यान से सुनिए उनकी बात...
खंडवा में किन्नर बने स्वच्छता दूत

किन्नर पूरे शहर में घूम कर अपने दिलचस्प और रोचक अंदाज़ में आम जनता से अपील कर रहे हैं कि वो शहर को साफ (clean) रखें. कचरा डस्टबिन (dusbin) में ही डालें. सड़क पर गंदगी ना फैलाएं और यहां-वहां थूके नहीं.

  • Share this:
खंडवा.स्वच्छता सर्वेक्षण  में खुद को अव्वल लाने की तैयारी में पूरा देश लगा हुआ है. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में ये तैयारी कुछ ज़्यादा है क्योंकि देश के सबसे स्वच्छ शहर का ताज इंदौर (indore) और राजधानी का ताज भोपाल (bhopal) के सिर पर सजा है. प्रदेश की कोशिश अपने ताज को बचाए रखने की है. इसी के साथ प्रदेश के अन्य शहर भी इस रेस को जीतने की जी-तोड़ कोशिश कर रहे हैं. खंडवा (khandwa) ने अपने इस प्रयास में एक अभिनव पहल की है. नगर निगम ने अपनी इस मुहिम में किन्नरों को साथ लिया है.

मंगल गीत के साथ अपील
स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में खंडवा को अव्वल बनाने के लिए खंडवा नगर निगम ने अनूठी पहल करते हुए इस बार किन्नर समुदाय को इसमें शामिल किया है. किन्नर समुदाय पूरे शहर में घूम-घूम कर शहर को साफ और स्वच्छ रखने की अपील कर रहा है. वो अपने पंरपरागत तरीके से मंगल गीत गाकर, दुआ देकर और लोगों से शहर को साफ रखने के लिए प्यार से आग्रह कर रहे हैं.

स्वच्छ खंडवा-स्वस्थ खंडवा

नगर निगम ने इस बार स्वच्छ खंडवा-स्वस्थ खंडवा का नारा दिया है. लेकिन ये आम जनता तक कैसे पहुंचे और इसे लोग अमल में कैसे लाएं इसका प्रयास जारी है. नगर निगम ने पूरे शहर में जागरुकता अभियान छेड़ दिया है. लोगों से अलग-अलग तरीकों और माध्यमों से शहर को साफ रखने की अपील की जा रही है. साथ ही हिदायत भी दी जा रही है कि जिसने शहर को गंदा किया उसकी खैर नहीं.

स्वच्छता दूत
नगर निगम ने अपने इस काम में किन्नरों को साथ लिया तो पूरा समुदाय उत्साह के साथ इसमें शामिल हो गया. इन्हें स्वच्छता दूत बनाया गया है. अब किन्नर पूरे शहर में घूम कर अपने दिलचस्प और रोचक अंदाज़ में आम जनता से अपील कर रहे हैं कि वो शहर को साफ रखें. कचरा डस्टबिन में ही डालें. सड़क पर गंदगी ना फैलाएं और यहां-वहां थूके नहीं.चित्रकारी के ज़रिए
खंडवा नगर निगम अधिकारियों का कहना है लोगों में स्वच्छता के प्रति आज भी पूरी तरह जागरुकता नहीं आ पाई है. शहर को अव्वल बनाने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है. शहर के प्रमुख स्थानों और चौक बाज़ारों में पेंटिंग्स और होर्डिंग लगाकर स्वच्छता मिशन में सहयोग की अपील की जा रही है.

पूरा है विश्वास
हमारी संस्कृति में आदिकाल से किन्नरों को शुभ माने जाने की परंपरा रही है. लोग उनकी दुआएं लेते हैं. मंगल गीत गाए जाते हैं. नगर निगम प्रशासन को पूरा भरोसा है कि स्वच्छता अभियान से इन लोगों को जोड़ने का गहरा असर समाज पर पड़ेगा और वो सफाई में शहर का साथ देगा.

ये भी पढ़ें-पिंक सिटी जयपुर की तर्ज पर राम राजा की नगरी ओरछा अब बनेगी 'क्रीम सिटी'

खाद का संकट गहराया तो हरदा में यूरिया के ट्रकों पर लगा पुलिस का पहरा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खंडवा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 11:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर