लाइव टीवी

वेलेंटाइंस डे पर खंडवा की ये MBA गर्ल प्रियंका भंडारी छोड़ देगी सांसारिक जीवन...

Harendra Nath Thakur | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 12, 2020, 10:46 PM IST
वेलेंटाइंस डे पर खंडवा की ये MBA गर्ल प्रियंका भंडारी छोड़ देगी सांसारिक जीवन...
खंडवा की प्रियंका भंडारी वेलेंटाइन डे पर लेंगी संन्यास.

दीक्षा से पहले प्रियंका को दुल्हन की तरह सजाकर बहनों ने गीत गाए. दिल पर पत्थर रखकर मां ने भी मंगल गीत गाए और सुख सुविधा और वैभव का त्याग कर वनविहारी होने का आशीर्वाद दिया.

  • Share this:
खंडवा में श्वेतांबर जैन समाज (Jain society) की एक MBA गर्ल सांसारिक जीवन, मोह-माया छोड़कर साध्वी बनने जा रही है. दीक्षा समारोह 14 फरवरी वेलेंटाइंस डे (Valentine's Day) पर होगा. परिवार और समाज उस पल का साक्षी बनेगा. सभी उस दीक्षा समारोह की तैयारी में व्यस्त हैं. दीक्षा से पहले की रस्में निभायी जा रही हैं.

14 फरवरी को जब दुनिया वेलेंटाइंस डे मना रही होगी, ठीक उसी दिन खंडवा की प्रियंका भंडारी दीन-दुनिया लोभ-मोह और सांसारिक इच्छाओं का त्याग कर भगवान महावीर की शरण में जा रही हैं. वो साध्वी की दीक्षा ले रही हैं. 27 साल की प्रियंका MBA गर्ल हैं. लेकिन उन्होंने सांसारिक बंधनों का त्याग कर साध्वी की राह पकड़ ली है.

वैराग्य से पहले श्रृंगार
दीक्षा की रस्में शुरू हो चुकी हैं. मुमुक्षु प्रियंका बग्घी में बैठकर नगर भ्रमण पर निकलीं. मुमुक्षु अर्थात मोक्ष की कामना करने वाली. खालवा की रहने वाली एम.बी.ए. गर्ल प्रियंका भंडारी ने इस सांसारिक जीवन से वैराग्य ले लिया है. मुमुक्षु प्रियंका के पीछे हजारों नगर वासियों का एक लंबा कारवां निकला. पूरे धूम-धाम के साथ दीक्षा से पहले मुमुक्षु प्रियंका का नगर भ्रमण करवाया गया. मोक्ष की राह पर कदम बढ़ा चुकी प्रियंका को आखिरी वार परिवार वालों ने एक दुल्हन की तरह जेवरों से सजाया. हाथों में मेंहदी रचाई ताकि दुल्हन की तरह बेटी की विदाई की टीस मन में ना रह जाए.

मल्टी नेशनल कंपनी से जॉब ऑफर
प्रियंका के पिता अनिल भंडारी कारोबारी हैं. लाड़-प्यार और नाजों से पली प्रियंका ने पिता के कारोबार में मदद के लिए एम.बी.ए. किया था. मल्टी नेशनल कंपनी से जॉब के ऑफर आए. लेकिन जैन धर्म का एक स्तवन सुनकर प्रियंका ने अपने जीवन की दिशा का रुख़ ही मोड़ दिया. छह माह पूर्व प्रियंका ने परिवार वालों को सांसारिक जीवन से वैराग्य लेने का फैसला सुनाया. परिवार वालों के लिए ये थोड़ा मुश्किल फैसला था. आखिरकार बेटी की खुशी में ही परिवार ने अपनी खुशी समझी. प्रियंका ने कहा वह प्रभु के प्यार में खुद को समर्पित कर रही है।

वेलेंटाइंस डे पर दीक्षादो दिन बाद 14 फरवरी यानि वेलेंटाइंस डे पर महाराष्ट्र में कान मुनि महाराज प्रियंका को दीक्षा दिलवाएंगे. ज्यों-ज्यों 14 फरवरी का दिन करीब आ रहा है उनसे मिलने के लिए रिश्तेदार और समाज के लोग पहुंचने लगे हैं. दीक्षा लेने के बाद प्रियंका दोबारा इस जन्म में अपने घर के आंगन में नहीं लौटेंगी.

मां ने भी गाए मंगल गीत
दीक्षा लेने के लिए महाराष्ट्र रवाना होने से पहले प्रियंका को दुल्हन की तरह सजाकर सबने उस पर अपना स्नेह लुटाया. चारों बहनों और रिश्तेदारों ने गीतों के माध्यम से प्रियंका के साथ अपना समय बिताया. दिल पर पत्थर रखकर मां ने भी मंगल गीत गाए और सुख सुविधा और वैभव का त्याग कर वनविहारी होने का आशीर्वाद दिया.

ये भी पढ़ें-एक अनजान कॉल जो कहता है-आप कौन बनेगा करोड़पति के लिए लिए चुने गए हैं फिर...

संविदा कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज : मानदेय बढ़ाने और नौकरी में वापसी का ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खंडवा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 6:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर