Home /News /madhya-pradesh /

CM शिवराज बोले, 'मैंने मान लिया था कि 5 साल विपक्ष में बैठना पड़ेगा, एक चमत्कार ने पलटी बाजी'

CM शिवराज बोले, 'मैंने मान लिया था कि 5 साल विपक्ष में बैठना पड़ेगा, एक चमत्कार ने पलटी बाजी'

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खंडवा में जनता के बीच बड़ा राज खोला.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खंडवा में जनता के बीच बड़ा राज खोला.

Madhya Pradesh News: एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खंडवा जिले में राज खोला. उन्होंने जनता के बीच मंच से बताया कि क्या हुआ था 2018 में. उन्होंने कहा कि उस समय वे दिल पर पत्थर रख चुके थे. ये सोच चुके थे कि अब विपक्ष में ही बैठना है. लेकिन, फिर चमत्कार हुआ.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    खंडवा. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने खंडवा (Khandwa) जिले में बड़े राज का खुलासा किया. उन्होंने मंच से सभा के बीच 2018 के विधानसभा चुनाव की चर्चा की. जनता को बताया कि कैसे उन्होंने दिल पर पत्थर रख लिया था और मान लिया था कि अब 5 साल के लिए विपक्ष में ही बैठना पड़ेगा. एक चमत्कार ने पूरी बाजी पलट दी और वे फिर मुख्यमंत्री बन गए.

    दरअसल, शिवराज मंगलवार को खंडवा जिले में जनदर्शन कर रहे थे. उन्होंने इस दौरान कई घोषणाएं भी कीं. वे मंच पर खड़े हुए और कहा- ‘2018 विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद मैंने मान लिया था कि अब तो 5 साल के लिए गए. पता नहीं क्या चमत्कार हुआ और मैं 15 माह में ही वापिस आ गया.’ उन्होंने इस दौरान कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कमलनाथ 15 महीने के लिए सीएम बने. वे इन्ही 15 महीनों में प्रदेश का सत्यानाश करके चले गए. 15 माह की कमलनाथ सरकार के कार्यकाल में कोई काम नहीं किया गया. प्रदेश को बर्बाद कर दिया. बीजेपी सरकार की सारी योजनाएं बंद कर दी. यहां तक की कन्यादान योजना भी अधर में लटक गई. बेटियों की शादी मुश्किल हो गई.

    इस तरह हुथा था चमत्कार

    गौरतलब है कि 2018 में बीजेपी विधानसभा चुनाव हार गई थी और प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी. इसके चलते शिवराज को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था और कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. इस बीच बाजी पलट गई. साल 2020 में कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया अचानक बीजेपी में शामिल हो गए. उनके साथ कांग्रेस के 22 अन्य विधायकों ने भी पार्टी छोड़ दी.

    फिर सत्ता पर काबिज हुई बीजेपी

    इससे कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिर गई और बीजेपी फिर सत्ता पर काबिज हुई. शिवराज सिंह चौहान फिर से मुख्यमंत्री बनाए गए. गौरतलब है कि 2018 के चुनाव में बीजेपी की 107 सीटें मिली थीं. जबकि कांग्रेस के पास 114 सीटें थीं. 2 सीटें बीएसपी और 1 सीट सपा को मिली थी. 4 सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशी जीते थे.

    हर विधायक के काम पर सीएम की नजर

    मुख्यमंत्री ने सीएम हेल्पलाइन को नये कलेवर में ढालने का ऐलान किया है. कई नई सुविधाओं को सीएम हेल्पलाइन से जोड़ा जाएगा. व्हाट्सएप चैट बोर्ड की सुविधा को भी तेजी के साथ अमल में लाने की तैयारी है. लोग व्हाट्सएप के जरिए शिकायतों का समाधान पा सकेंगे. साथ ही फोन कॉल के जरिए मिलने वाली सेवाओं को भी बढ़ाने पर सरकार विचार कर रही है.

    Tags: Kamal nath, Mp news, Shivraj singh chouhan

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर