लाइव टीवी

खंडवा: तबादले के महीने भर बाद भी रिलीव नहीं किया, निकल रही ज्वाइनिंग की तारीख

Harendra Nath Thakur | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 27, 2019, 11:35 AM IST
खंडवा: तबादले के महीने भर बाद भी रिलीव नहीं किया, निकल रही ज्वाइनिंग की तारीख
रिलीविंग के लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर काट रहे खंडवा के शिक्षक

तबादले (Transfer) के एक महीने बाद भी खंडवा (Khandwa) के शिक्षक रिलीविंग (relieving) के लिए सरकारी कार्यालयों (Government Offices) के चक्कर काट रहे हैं. ज्वाइनिंग का समय निकलने के चलते ये लोग अपने भविष्य को लेकर भी परेशान हैं.

  • Share this:
खंडवा. कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) में तबादलों (Transfer) के बाद रिलीविंग आदेश के लिए खंडवा (Khandwa) के शिक्षकों  सरकारी कार्यालयों में दिनभर चक्कर लगाने पड़ रहे हैं.  तबादले के एक महीने बाद भी इन्हें रिलीविंग आदेश नहीं मिले हैं. ज्वाइनिंग की तारीख भी निकल रही है. अपने भविष्य की चिंता में कुछ महिला शिक्षक तो अपने बच्चों के साथ आईं हैं. जब रात तक उन्हें रिलीविंग नहीं मिली तो कुछ शिक्षक आदिवासी विकास विभाग कार्यालय में ही सो गए. ये हालात तब हैं जब तबादला आदेश को एक महीने से ज्यादा का समय बीत चुका है.

रिलीविंग को लेकर भटकते रहे शिक्षक
शिक्षक आदर्श समाज का निर्माता होता है, जिनके साए में न जाने कितने IAS, IPS तैयार होकर देश का गौरव बढाते हैं. लेकिन इन्हीं शिक्षकों को तबादले के बाद रिलीविंग आदेश के लिए सुबह से शाम तक जिला पंचायत, कलेक्टर कार्यालय तो कभी शिक्षा विभाग के कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं. खंडवा से बाहर के जिलों में इन शिक्षक-शिक्षिकाओं के तबादले होने के बाद ये आदिवासी विकास विभाग कार्यालय में गुरूवार को दिनभर अपने-अपने रिलीविंग आदेश लेने के लिए भटकते रहे.

News - जब रात तक रिलीविंग नहीं मिली तो कुछ शिक्षक आदिवासी विकास विभाग कार्यालय में ही सो गए, sleeping in aadiwasi vibhag office
जब रात तक रिलीविंग नहीं मिली तो कुछ शिक्षक आदिवासी विकास विभाग कार्यालय में ही सो गए


इसके बावजूद रात्रि तक जब इन्हें आदेश नहीं दिया गया तब थक-हारकर इन शिक्षकों ने खाना खाने के बाद रात्रि में यहीं डेरा डाल दिया. कुछ शिक्षक थकान के कारण हारकर आदिवासी विकास विभाग के कार्यालय में ही सो गए. कुछ शिक्षिकाएं भी थीं जो अपने-अपने बच्चों को लेकर परेशान हो रही थीं.

निकल रही ज्वाइनिंग की तारीख
शिक्षकों का कहना है की इनके तबादले को पिछले एक महीने से भी ज्यादा हो गया इसके बावजूद अबतक इन्हें अबतक रिलीविंग आदेश नहीं मिल पाए. जबकि स्थानांतरित स्थानों पर 25 सितंबर को ज्वाइन करने की आखिरी तारीख थी. लिहाजा अब शिक्षक अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं. बहरहाल, शिक्षकों के नाम पर आप भले हीं हर वर्ष उन्हें शिक्षक दिवस पर सम्मान देते हैं लेकिन अपने हक के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाते इन शिक्षकों की स्थिति देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है की अपने दर्द से आहत ये शिक्षक समाज का निर्माता भला कैसे बन पायेंगे.ये भी पढ़ें -
छुट्टी मनाने नामी रिसोर्ट गए एक ही परिवार के 4 सदस्यों की रहस्यमय मौत, केस दर्ज
रतलाम गैंगरेप मामला: जानिए ऐसा क्या हुआ जो कोर्ट रूम में ही धरने पर बैठ गए वकील

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 27, 2019, 11:27 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर