कलेक्‍टर ने की सख्‍ती तो कर्मचारियों ने दी चुनाव बहिष्‍कार की धमकी
Khandwa News in Hindi

कलेक्‍टर ने की सख्‍ती तो कर्मचारियों ने दी चुनाव बहिष्‍कार की धमकी
अटेंडेंस के विरोध में रैली निकालते हुए अधिकारी-कर्मचारी.

खंडवा के नए कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने जिले की डांवाडोल स्थिति को देखकर अधिकारियों और कर्मचारियों को सही समय पर दफ्तर आने-जाने के लिए अटेंडेंस ऐप बनाया.

  • Share this:
चुनावी वर्ष में सिर्फ नेता ही राजनीति नहीं करते बल्कि अपनी मांगें मनवाने के लिए सरकारी कर्मचारी भी राजनीतिक दांव-पेंच का प्रयोग करते हैं. ऐसा ही कुछ हुआ है मध्‍यप्रदेश के खंडवा में. यहां सभी सरकारी विभागों के कर्मचारियों ने लामबंद होकर खंडवा कलेक्टर के एक फैसले का विरोध करते हुए चुनाव वहिष्कार की धमकी तक दे डाली.

खंडवा कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने कर्मचारियों पर लगाम लगाने के लिए एक मोबाइल अटेंडेंस ऐप खुद तैयार किया था. हर दिन विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों को इस ऐप के माध्यम से अपने कार्यस्थल पर नियमित कार्यालय प्रवेश करने और शाम को दफ्तर छोड़ने पर अंगूठा लगाना था. जिले के सैकड़ों कर्मचारियों को यह रास नहीं आया और आखिरकार कर्मचारियों ने रैली निकालकर कलेक्टर के इस फैसले का विरोध शुरू कर दिया. कर्मचारियों ने कलेक्‍टोरेट पहुंचकर कलेक्टर के इस आदेश के खिलाफ नारेबाजी कर चुनाव कार्यों के भी बहिष्कार की धमकी दी है.

दरअसल नीति आयोग द्वारा खंडवा को पिछड़ा जिला घोषित किए जाने के बाद बड़े स्तर पर खंडवा जिले की प्रशासनिक सर्जरी हुई थी. इसमें कलेक्टर, एसपी से लेकर जिले के हर विभाग के अधिकारी बदल दिए गए थे. खंडवा के नए कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने जिले की डांवाडोल स्थिति को देखकर अधिकारियों और कर्मचारियों को सही समय पर दफ्तर आने-जाने के लिए अटेंडेंस ऐप बनाया. इस ऐप के माध्यम से अधिकारियों और कर्मचारियों की सही स्थिति का आकलन किया जा रहा है.



कलेक्टर के इस प्रयोग से कर्मचारियों की मॉनिटरिंग शुरू हो गई है. जो काम न करने वाले कर्मचारियों को रास नहीं आ रही है और उनके गले की हड्डी बन गई है. कलेक्टर ने विरोध करने वालों को साफ तौर पर कह दिया है कि वे जिले को किसी भी कीमत पर पिछड़ने नही देंगे और इस ऐप के माध्यम से कर्मचारियों-अधिकारियों की सतत निगरानी होती रहेगी.
यह भी देखें- VIDEO: त्‍योहारों और मतदान को लेकर खंडवा में निकाली गई रैली

यह भी देखें- VIDEO: बच्चों के लिए कलेक्टर के प्रयासों को देखकर आप भी कहेंगे “थैंक्स सर”

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज