एमपी टूरिज्म बोर्ड का स्थापना दिवस, हनुवंतिया टापू सैलानियों से हुआ गुलजार

देश के सबसे बड़े बांध इंदिरा सागर के बैकवाटर में बसे हनुवंतिया टापू को मध्य प्रदेश पर्यटन निगम ने 10 करोड रु. खर्च कर पर्यटन के लिहाज से लगातार विकसित करने का कार्य पिछले वर्ष से शुरू हो चुका है.
देश के सबसे बड़े बांध इंदिरा सागर के बैकवाटर में बसे हनुवंतिया टापू को मध्य प्रदेश पर्यटन निगम ने 10 करोड रु. खर्च कर पर्यटन के लिहाज से लगातार विकसित करने का कार्य पिछले वर्ष से शुरू हो चुका है.

देश के सबसे बड़े बांध इंदिरा सागर के बैकवाटर में बसे हनुवंतिया टापू को मध्य प्रदेश पर्यटन निगम ने 10 करोड रु. खर्च कर पर्यटन के लिहाज से लगातार विकसित करने का कार्य पिछले वर्ष से शुरू हो चुका है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश पर्यटन निगम मंडल ने मंगलवार को अपनी स्थापना दिवस मनाया. इस दौरान खंडवा जिले के इंदिरा सागर बांध स्थित हनुवंतिया टापू पर्यटन स्थल पर सैलानियों की भीड़ से गुलजार हो गया.

देश के सबसे बड़े बांध इंदिरा सागर के बैकवाटर में बसे हनुवंतिया टापू को मध्य प्रदेश पर्यटन निगम ने 10 करोड रु. खर्च कर पर्यटन के लिहाज से लगातार विकसित करने का कार्य पिछले वर्ष से शुरू हो चुका है.

पर्यटन विभाग इस टापू को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विकसित कर इसे देश के नक्शे पर उभारने में जुट गया हैं. इसी क्रम में पर्यटन विभाग ने इस वर्ष से ह्नुवंतिया में जल महोत्सव की शुरुवात कर दी है, जिसे हर साल पर्यटन के लिहाज से मनाया जाएगा.



हेलीकॉप्टर में उड़ने वाले शिवराज ने पत्नी संग की बैलगाड़ी की सवारी
पर्यटक सुनील सिंह ने बताया कि टापू को प्राकृतिक रूप से कुदरत ने हीं इसे विकसित किया है. हनुवंतिया के आस-पास छोटे-बड़े 90 से ज्यादा टापू हैं, जो जलस्तर ज्यादा होने की स्थिति में कभी विलुप्त हो जाते हैं, तो कभी दिखने लगते हैं. देशभर से लोग यहां इसकी खुबसूरती को देख खुद-ब-खुद खिंचे चले आते हैं.

इन सबके बीच पर्यटन विभाग ने इस वर्ष 12 फरवरी से लेकर 21 फरवरी तक यहां जल महोत्सव का एक सफल आयोजन संचालित किया. इसमें प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने पत्नी साधना सिंह के साथ खुद रात्री विश्राम कर जल महोत्सव का आनंद उठाया.

इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने 2 फरवरी को पानी में चलते क्रूज के ऊपर अपनी केबिनेट की बैठक भी आयोजित की. जल महोत्सव के सफल आयोजन के बाद मुख्यमंत्री ने अब इसे 15 दिसंबर से 15 जनवरी के बीच हर साल करने की घोषणा की है.

संस्कृति राज्य मंत्री सुरेन्द्र पटवा का कहना है कि टापू को आने वाले समय में पर्यटन के हिसाब से इस तरह विकसित किया जाएगा. उनकी मानें तो ये देश के पर्यटन के लिए भी अनूठा होगा .
शिवराज कैबिनेट की बैठक के पहले हनुवंतिया टापू पर आग, दो कॉटेज जलकर खाक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज