होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /VIDEO: खंडवा जिला अस्‍पताल में दैवी चमत्‍कार से लकवे का इलाज!

VIDEO: खंडवा जिला अस्‍पताल में दैवी चमत्‍कार से लकवे का इलाज!

महज 13 साल की एक लड़की अचानक जिला अस्पताल परिसर में विकलांग लोगों को ठीक करने का दावा करते हुए अस्पताल में भर्ती मरीजों ...अधिक पढ़ें

    मध्‍यप्रदेश के खंडवा जिला अस्पताल में गुरुवार रात उस वक्त सैकड़ों लोगों की भीड़ अचानक उमड़ पड़ी, जब एक नाबालिग लड़की विकलांग लोगों को ठीक करने के लिए अस्पताल में ही उनका इलाज करने लगी. सरकारी अस्पताल में सरकारी तंत्र को अजब तरीके से चुनौती देने का गजब खेल काफी देर तक चलता रहा. जब ड्यूटी डॉक्‍टर ने पुलिस बुलाने की धमकी दी, तब वह लड़की वहां से चली गई.

    यह तमाशा, यह भीड़ खंडवा के जिला अस्पताल परिसर में देख कर आप भी हैरान और परेशान हो रहे होंगे. दरअसल जो काम वर्षों से सरकारी डॉक्टर और विज्ञान नहीं कर पाया, उसे पलभर में ठीक करने का यहां खेल चल रहा है. महज 13 साल की एक लड़की अचानक जिला अस्पताल परिसर में विकलांग लोगों को ठीक करने का दावा करते हुए अस्पताल में भर्ती मरीजों का इलाज करने लगी. फिर क्या था, पूरे अस्पताल में मानो मजमा लग गया. विज्ञान को चुनौती देने का खेल पूरे शबाब पर था. जिनके लिए कल तक डॉक्टर भगवान का रूप थे, वे उन्‍हें छोड़कर इस तथाकथित चमत्कारिक देवी रूपी इस लड़की से इलाज कराने एक-एक कर पहुंचने लगे.

    अस्पताल में देवी से इलाज करवाने वालों की संख्या बढ़ती ही जा रही थी. अस्पताल में बढ़ती भीड़ और तमाशा देखकर रात्रि में अस्पताल में तैनात डॉक्टर ने पुलिस बुलवाने की जब धमकी दी, तो वह चमत्कारिक देवी वहां से छू हो गई. ड्यूटी डॉक्टर ने स्वीकार किया कि उसके सामने यह खेल चल रहा था. यह किसी ढोंग से कम नहीं था.

    बहरहाल, सवाल यह है कि देवी के अवतार के रूप में अपने आप को प्रचारित कर रही यह बच्ची अस्पताल में कैसे और कहां से अचानक आ गई. बच्ची जिस ढंग से लकवा ठीक करने का दावा कर रही थी, वह साफ-साफ पूरे अस्पताल प्रबंधन को मानो मुंह चिढ़ाने जैसा था.

    यह भी पढ़ें- खंडवा की बेटी का दावा, जो बुरी नीयत से छुआ तो लगेगा करंट...

    यह भी देखें- VIDEO: इस स्‍कूल के बच्‍चों के रोजाना दो घंटे बीतते हैं पानी लाने में

     

    Tags: Madhya pradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें